स्वास्थ्य से जुड़े मिथक जिन पर आपको विश्वास नहीं करना चाहिए

Read in English
health myths you need to break today

जब आपकी फिटनेस और स्वास्थ्य की बात आती है तो लोग कई तरीकों का इस्तेमाल करतें हैं जिससे उनकी सेहत बनी रहे। ऐसे में वो कई बार गलत चीजों को सही मानकर गलत कदम उठाते हैं और अपनी सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं। लंबे समय से किसी गलत बात को बार-बार सुनने से भी इंसान उसे सच मानने लगता है और उसका पालन करने लगता है। इन्हें ही मिथक कहा जाता है। ऐसे ही कई मिथक आपके स्वास्थ्य से जुड़े हैं जिन्हें आप सच मानते हैं और एक समय से विश्वास करते आ रहे हैं। आइए जानते हैं स्वास्थ्य से जुड़े वो मिथक जिन पर आपको विश्वास नहीं करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: आपकी आदतें जो प्रतिरक्षा प्रणाली को नुकसान पहुंचाती है]

शरीर को डिटॉक्स करने के लिए जूस क्लीजिंग एक बेहतर तरीका है
लोग अक्सर अपने शरीर को डिटॉक्स करने के लिए जूस क्लीजिंग को एक बेहतर तरीका मानते हैं। इस दौरान वो केवल जूस का सेवन करते हैं और कुछ नहीं खाते। हालांकि, स्वस्थ जीवन के लिए आपको यह समझना चाहिए कि आपके शरीर को कार्बोहाइड्रेट और वसा जैसे विभिन्न पोषक तत्वों की जरूरत है। जूस डिटॉक्स आपके शरीर को आवश्यक पोषक तत्वों से वंचित कर देता है और इस कारण आपको कमजोरी हो सकती है।

पतले लोग स्वस्थ होते हैं
यह सबसे प्रचलित मिथक है जिस पर लोग विश्वास करते हैं और इसक पालन भी करते हैं। लोगों का मानना है कि अगर कोई व्यक्ति पतला है तो वह सबसे स्वस्थ इंसान है। हालांकि, पतला होने का आपकी प्रतिरक्षा और स्वास्थ्य से कोई लेना देना नहीं है। कभी-कभी पतले लोग वास्तव में कुपोषित होते हैं। [ये भी पढ़ें: बातें जो आपका चेहरा आपके स्वास्थ्य के बारे में बताता है]

रात में कैलोरी का सेवन तेजी से वज़न बढ़ाता है
कैलोरी का सेवन आप किसी भी समय पर करें इसका असर हर समय एक जैसा ही होगा। यह एक भौतिक इकाई हैं और समय के अनुसार नहीं बदलती। दिन के वक्त भी कैलोरी का सेवन उतना ही वजन बढ़ा सकता है। यह सच है कि रात में आपको हल्का भोजन करना चाहिए क्योंकि जब आप सो रहे होते हैं तो कोई शारीरिक गतिविधि नहीं होती है।

गर्म पानी से हाथ धोने से जर्म्स मर जाते है
ऐसा सोच कर आप खुद को जर्म्स के संपर्क में रखते हैं। गर्म पानी से हाथ धोने से जर्म्स नहीं जाते हैं। इसके लिए पानी के तापमान का अधिक होना जरुरी है। केवल उबलते पानी का तापमान उतना होता है जो कि जर्म्स को मार सकता है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि उबलते पानी का उपयोग हाथ धोने के लिए नहीं किया जा सकता है। इसलिए, यह पूरी तरह गलत है।

अच्छी तरह से व्यायाम करने से फैट मसल्स में बदल जाता है
साधारण शब्दों में, फैट और मसल्स दोनों के मेटाबॉलिक टिशू अलग-अलग होते हैं। इसलिए, उनका एक-दूसरे में बदलना वास्तव में असंभव है। जब हम व्यायाम करते हैं तो हम फैट बर्न करते हैं और मसल्स बनाते हैं, लेकिन यह दोनों विधि अलग होती है और इनका इस मिथक से कोई लेना-देना नहीं है। [ये भी पढ़ें: रोजाना की आदतें जो आपकी आंखों को नुकसान पहुंचाती हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "