रोजाना की आदतें जिनके कारण आपके दांतों पर पीलापन आता है

everyday mistakes that are yellowing your teeth

सफेद दांत आपकी मुस्कान में चार चांद लगा देते हैं। लेकिन जब आपके दांत पीले हो जाते हैं तो इससे आपको शर्मिंदी भी महसूस हो सकती है। दांतों का रंग खराब होना और पीलापन आपके ओरल हेल्थ से जुड़ी समस्या होती है। जो आपकी रोजाना की कुछ आदतों की वजह से होता है। आपकी रोजाना की कुछ आदतें दांतों को पीला बना देती हैं। इन आदतों को छोड़कर आप दांतों के पीलेपन को कम कर सकते हैं। साथ ही कुछ उपायों की मदद से भी इस समस्या को दूर कर सकते हैं। तो आइए आपको रोजाना की इन आदतों के बारे में बताते हैं जो दांतों पर पीलेपन के लिए जिम्मेदार होती हैं। [ये भी पढ़ें: कारण जो माइग्रेन के दर्द को बढ़ा सकते हैं]

एसिडिक फ्रूट और सब्जियों का सेवन: जब आप अधिक एसिडिक माउथवॉश का इस्तेमाल करते हैं तो इससे एनामेल पतला हो जाता है। ठीक उसी तरह जब आप एसिडिक फलों और सब्जियों का सेवन करते हैं तो इसका असर एनामेल पर पड़ता है। डाइट में ज्यादा मात्रा में एसिड होना दांतों के लिए हानिकारक होता है। टमाटर, जूस, अनानास जैसे सिट्रस फलों में एसिड की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए इनका सेवन थोड़ा कम करें। कम करने से मतलब यह नहीं की आप इन्हें डाइट से हटा दें बस इन फलों का सेवन करने के बाद पानी जरुर पी लें। इससे पीलेपन की समस्या होने की संभावना कम होती है।

चाय और कॉफी पीना: चाय और कॉफी पीने से दांतों पर दाग पड़ सकते हैं। जिसकी वजह से दांतों पर पीलेपन की समस्या हो सकती है। जब आप दिन में 2-3 कप चाय या कॉफी पीते हैं तो एनामेल सीधे तौर पर स्टेनिंग एजेंट के संपर्क में आ जाते हैं। जिसकी वजह से दांत पीले हो सकते हैं अगर इन्हें रोजाना साफ ना किया जाए। [ये भी पढ़ें: जूतों से जुड़ी परेशानियों को दूर करने के लिए टिप्स]

धूम्रपान: सिगरेट में मौजूद निकोटिन दांतों पर प्रभाव डालते हैं। यह केमिकल दांतों पर चिपक जाते हैं जिसकी वजह से मसूड़ों की समस्या, मुंह का सूखना और दांतों पर पीलेपन की समस्या होने लगती है।

ज्यादा मीठे का सेवन करना: मीठा खाने से आपके मुंह में एसिड की मात्रा बढ़ जाती है। यह एसिडिटी आपके दांतों के लिए फायदेमंद नहीं होती है। यह एसिड ना सिर्फ एनामेंल के लिए हानिकारक होता है बल्कि दांतों को पीला भी कर देता है। इसके लिए मीठा खाने के बाद हमेशा ब्रश करें। साथ ही मीठा खाने के बाद पानी पीना ना भूलें।

माउथवॉश का ज्यादा इस्तेमाल करना: दांतों के लिए मुंह का सूखना हानिकारक होता है। लार में मिनरल , एंजाइम और ऑक्सीजन कंपाउंड होते हैं जो मुंह में पीएच के लेवल को संतुलित रखने में मदद करते हैं। जिससे एनामेल से एसिड दूर रखने में मदद मिलती है। लार दांतों से दागों को कम करने में मदद करती है। मगर माउथवॉश में एसिड होता है जिसका ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल करने से एनामेल को नुकसान पहुंच सकता है और मुंह सूख जाता है जो दांतों के पीलपन का कारण बन जाता है। [ये भी पढ़ें: स्वास्थ्य समस्याओं की तरफ संकेत करते हैं कुछ प्रकार के कमर दर्द]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "