रोजाना कि आदतें जो आपके जीवनकाल को कम करती हैं

everyday habits that could shorten your life span

हम सभी जानते हैं कि व्यक्ति का औसतन जीवनकाल 80-100 साल होता है। हर व्यक्ति चाहता है कि वह जितने समय भी जीवित रहे उसका शरीर स्वस्थ रहना चाहिए। अगर आपका स्वास्थ्य ठीक नहीं है फिर चाहे वो शारीरिक वो या मानसिक तो वह आपके जीवनकाल को प्रभावित करता है। अच्छा स्वास्थ्य आपके लंबे समय तक जीवित रहने के लिए महत्वपूर्ण होता है। खुद को स्वस्थ रखना इतना आसान नहीं होता है जितना व्यक्ति समझता है। आपकी रोजाना कि कुछ आदतें आपके जीवनकाल को बढ़ा सकती हैं तो कम भी कर देती हैं। तो आइए आपको उन आदतों के बारे में बताते हैं जो आपके जीवनकाल को कम कर सकती हैं। [ये भी पढ़ें: पेट के बैक्टीरिया कैसे आपके वजन को प्रभावित करते हैं]

ज्यादा नमक का सेवन: अगर आपको खाने का बहुत शौक है और ज्यादा नमक खाना पसंद करते हैं तो इसका आपके स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है। जिन खाद्य पदार्थों में अत्यधिक मात्रा में नमक होता है उनका सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है। जो हृदय की बीमारी का कारण बन सकता है।

अस्वस्थ हाईजीन: अगर आप सही तरीके से हाथ नहीं धोते है, जिम या कहीं बाहर से आने के बाद एंटीबैक्टीरियल साबुन का इस्तेमाल करते हैं, सही तरीके से नहाते नहीं है जैसी हाइजीन आदतों को फॉलो नहीं करते हैं तो आपके शरीर में कई माइक्रोब्स एकत्रित हो जाते हैं जिससे कई बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती है। यह आपके जीवनकाल को प्रभावित करते हैं। [ये भी पढ़ें: शिलाजीत का सेवन स्वास्थ्य के लिए होता है लाभकारी]

नाखून चबाना: कई लोगों को नाखून चबाना अस्वस्थ आदत नहीं लगती है लेकिन नाखून चबाना कई घातक बीमारियों का कारण हो सकती है अगर आप ऐसा रोजाना करते हैं। नाखूनों में कुछ बैक्टीरिया होते हैं शरीर में जाकर खून को पतला कर देते हैं। जो आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है।

नाश्ता नहीं करना: रोजाना नाश्ता नहीं करने से आपका मेटाबोलिक लेवल और इम्यूनिटी कम होती है। जब आपकी इम्यूनिटी और मेटाबॉल्जिम कम होते हैं तो शरीर बीमारियों से लड़ने में सक्षम नहीं हो पाता है। जिससे बीमारियां बढ़ती जाती हा और आपका जीवनकाल कम हो जाता है।

देर रात स्नैक्स खाना: अगर आपको रोजाना देर रात को उठकर खाने की आदत है तो यह आपके जीवनकाल को कम कर सकता है। गलत समय पर अस्वस्थ खाद्य पदार्थों का सेवन आपके मेटाबॉल्जिम को धीमा कर देता है जिससे कई बीमारियां हो सकती हैं। [ये भी पढ़ें: पोषक तत्व जो शरीर के विकास में सहायता करते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "