महत्वपूर्ण ब्लड टेस्ट जो हर व्यक्ति को जरुर करवाने चाहिए

Read in English
essential blood tests a person must take

शरीर के बारे में जानने के लिए ब्लड टेस्ट करवाना जरुरी होता है।

जब स्वास्थ्य की बात आती है तो व्यक्ति को किसी भी चीज को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। खासकर तब जब आपको ब्लड टेस्ट करवाने के लिए कहा जाए। ब्लड टेस्ट बहुत तरह के होते हैं साथ ही इन्हें करने के लिए कई तरह की मशीनों का इस्तेमाल किया जाता है। शरीर में किसी भी तरह की समस्या के बारे में जानने के लिए ब्लड टेस्ट करवाए जाते हैं। ब्लड टेस्ट कई प्रकार से किए जाते हैं। ब्लड टेस्ट के प्रकार के बारे में जानने से बेहतर है कि आपको महत्वपूर्ण ब्लड टेस्ट के बारे में पता होना चाहिए। तो आइए आपको महत्वपूर्ण ब्लड टेस्ट के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: सलाद का सेवन से क्यों ब्लोटिंग की समस्या होती है]

महत्वपूर्ण ब्लड टेस्ट

कंप्लीट ब्लड काउंट
थायरॉइड टेस्ट
फाइब्रिनोजेन
डीहाइड्रोएपिंआनड्रोस्टेरोन (डीएचईए)

कंप्लीट ब्लड काउंट:

essential blood test
कंप्लीट ब्लड टेस्ट करवाकर लिवर, हृदय आदि के स्वास्थ्य के बारे में पता किया जा सकता है।

संपूर्ण स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए कंप्लीट ब्लड काउंट कराना बेहद जरुरी होता है। इससे आपके लिवर, किडनी, वस्कुलर स्वास्थ्य के साथ ब्लड सेल काउंट के बारे में भी पता चलता है। इसे प्लेटलेट्स के नंबर, लाल रक्त कोशिकाओं और सफेद रक्त कोशिकाओं के रुप में मापा जाता है। अगर आप पूरे शरीर के बारे में जानना चाहते हैं तो यह टेस्ट सही होता है।

थायरॉइड टेस्ट: थायरॉइड की समस्या महिला और पुरुष दोनों को हो सकती है। अगर आपके वजन में अचानक से बदलाव होता है तो आपको थायरॉइड की समस्या हो सकती है इसलिए थायरॉइड की समस्या हो सकती है। इस टेस्ट की मदद से आप थायरॉइड की समस्या के बारे में पता किया जा सकता है। आपको अपनी 20 की उम्र में कुछ टेस्ट करवाने चाहिए, इन टेस्ट के बारे में जानने के लिए क्लिक करें।

फाइब्रिनोजेन:

important blood test
फाइब्रिनोजेन लेवल बढ़ जाने से रक्त के थक्के बनने लगते हैं इसलिए इसका लेवल सही होना जरुरी होता है।

जब शरीर के ऊतकों में सूजन होती है तो इसका मतलब फाइब्रिनोजेन बढ़ जाना होता है। खून के थक्के जमने का कारण फाइब्रिनोजेन होता है। इसकी वजह से हृदय की समस्या हो सकती है। अपने शरीर को सुरक्षित रखने के लिए फाइब्रिनोजेन के लेवल के बारे में पता होना जरुरी होता है। इस लेवल के बारे में जानने के लिए फाइब्रिनोजेन ब्लड टेस्ट करवाना चाहिए।

डीहाइड्रोएपिंआनड्रोस्टेरोन (डीएचईए): डीहाइड्रोएपिंआनड्रोस्टेरोन (डीएचईए) एक हार्मोन होता है जिसका उत्पादन एड्रिनल ग्लैंड से होता है। इस हार्मोन का स्तर कम होने से कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। [ये भी पढ़ें: खाद्य पदार्थो जिन्हें आप एंटी-एलर्जी डाइट में शामिल कर सकते हैं]

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए समय-समय पर ब्लड टेस्ट करवा लेने चाहिए। यह आपको स्वस्थ रखने में मदद करेंगे।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "