एनर्जी ड्रिंक के सेवन से शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव

energy drinks side effects you must know about

Photo Credit: psd.fanextra.com

अधिक मात्रा में एनर्जी ड्रिंक या शराब का सेवन करना शारीरिक और व्यवहार संबंधी दुष्प्रभावों को ट्रिगर कर सकता है। यह डिहाईड्रेशन या दिल का तेज धड़कने लगना जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा एनर्जी ड्रिंक के कारण मोटापा, दांतों की समस्या या फिर इन्सुलिन रेजिसटेंट की समस्या भी हो जाती है, क्योंकि एनर्जी ड्रिंक में शुगर की मात्रा बहुत अधिक होती है। एनर्जी ड्रिंक में कैफीन बहुत अधिक मात्रा में होती है। एनर्जी ड्रिंक आपको लंबे समय तक ऊर्जावान रखने में भी मदद करता है। लेकिन जो लोग एनर्जी ड्रिंक के आदि हो जाते हैं उन्हें इसकी वजह से कई दुष्प्रभावों का सामना करना पड़ता है। आइए एनर्जी ड्रिंक के कारण शरीर पर होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में जानते हैं। [ये भी पढ़ें: दांतों को स्वस्थ रखने के लिए ब्रश करते समय रखें कुछ खास बातों का ध्यान]

घबराहट होने लगना: एनर्जी ड्रिंक में कैफीन उच्च मात्रा में होता है जिसके कारण लोगों को घबराहट महसूस होने लगती है। घबराहट के कारण अत्यधिक पसीना आना, मिचली और झटके जैसी समस्या उत्पन्न होने लगती है।

दांत से जुड़ी समस्या: एनर्जी ड्रिंक में चीनी की मात्रा बहुत अधिक होती है जिसके कारण दांतों से जुड़ी समस्या हो जाती है जैसे- दांतों की सड़न, पीलापन और कैविटी। एनर्जी ड्रिंक एसिडीक होता है जो दांतों में संसिटीविटी पैदा करता है। [ये भी पढ़ें: एड़ी फटने के पीछे क्या कारण हो सकते हैं]

नींद की समस्या: कैफीन एक उत्तेजक है जो कि मस्तिष्क में रक्त प्रवाह को गति देता है। इस वजह से यह आपको अधिक सक्रिय और सतर्क कर देता है जिसके कारण आपकी नींद खत्म हो जाती है। इसलिए सोने से कम से कम 6-7 घंटे पहले किसी भी एनर्जी ड्रिंक का सेवन नहीं करना चाहिए।

कार्डियेक अरेस्ट: दिल की धड़कन या टैचीकार्डिया में तेजी से बदलाव एक और गंभीर लक्षण है जो एनर्जी ड्रिंक की वजह से होता है। यह कार्डियोवस्कुलर के लक्षणों को बढ़ावा देने का भी काम करता है। एनर्जी ड्रिंक में कैफीन होता है जिसके कारण कार्डियेक अरेस्ट आने की संभावना बढ़ जाती है।

वजन बढ़ना: एनर्जी ड्रिंक की वजह से मोटापा बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है, क्योंकि इसमें शुगर की मात्रा बहुत अधिक होती है। आधे लीटर एनर्जी ड्रिंक में 220 कैलोरी होता है जिससे वजन बढ़ने की समस्या हो सकती है। [ये भी पढ़ें: स्टैंडिंग डेस्क का इस्तेमाल आपको कैसे स्वस्थ रखता है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "