आदतें जो आपके कानों के लिए हो सकती हैं हानिकारक

Read in English
common habits that can damage you ears

स्वस्थ जीवन जीने के लिए हम सभी को 5 इंद्रियों की आवश्यकता होती है। हमारे शरीर के ये अंग ऑक्सीजन की तरह हैं जिनके बिना जीवन जीना नामुमकिन सा है। सभी अंगों की अपनी विभिन्न गतिविधियां होती हैं। आंखों के बाद कानों का महत्व सबसे ऊपर है। कान हमारे दैनिक जीवन का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा होते हैं। हमारे सुनने की क्षमता हमें किसी भी बात पर जल्दी प्रतिक्रिया देने की शक्ति प्रदान करती है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि हमारी कुछ आदतें अनजाने में ही सही धीरे-धीरे हमारे कानों को नुकसान पहुंचा रही हैं। ये आदतें आपको काफी सामान्य लगती हैं लेकिन इनके नुकसान बड़े हो सकते हैं। आइए जानते हैं उन आदतों के बारे में जो जिनसे आपके कानों के लिए हो सकती हैं हानिकारक। [ये भी पढ़ें: एल्युमिनियम फॉइल में रखा खाना कर सकता है आपको बीमार]

हेडफोन का अधिक इस्तेमाल
आजकल संगीत सुनने, फोन पर बात करने, या रिकॉर्डिंग के लिए हर उम्र के लोग हेडफ़ोन का उपयोग करते हैं। यात्रा करते वक्त, पढ़ते वक्त आदि समय में हम संगीत सुनने के लिए हेडफोन या हैंडफ्री का इस्तेमाल करते ही है। ऐसे में संभावना होती हैं कि हम फोन का वॉल्यूम अधिक रखते हैं जिससे बाहर का शोर ना सुनाई दे और यही आदत कई समस्याओं की वजह बनती है। लंबे समय से अगर आप इस आदत को अपना रहे हैं तो यह आपके कानों के लिए हानिकारक हो सकता है। हालांकि इसके लक्षण आपको शुरुआत में नहीं दिखाई देते हैं लेकिन थोड़े समय के बाद आपको परेशान करने लगता है।

अगर किसी व्यक्ति को कम उम्र में ही सुनने में दिक्कत हो रही है तो जांच करते वक्त डॉक्टर अधिकतर मामलों में इसका कारण हेडफोन को बताते हैं। यह शोर के कारण सुनने में होने वाली परेशानी है। आपके कान में लगी हेडफोन और अधिक तेज आवाज कान की सुनने की क्षमता को प्रभावित करती हैं जिससे आपको सुनने में परेशानी हो सकती है। [ये भी पढ़ें: टैटू बनवाने से आपकी त्वचा पर कौन से बुरे प्रभाव होते हैं]

ईयरवैक्स
क्या आप जानते हैं कि आपके कान में मौजूद ईयरवैक्स आपके लिए अच्छा होता है। ईयरवैक्स सेल्फ क्लीनिंग एजेंट होता है जिसमें सुरक्षात्मक, एंटीबैक्टीरियल प्रोपर्टीज होती हैं। यह आपके कान को बाकी हानिकारक बैक्टीरिया से बचाता है और साफ रखता है। जब लोग कॉटन या अन्य किसी वस्तु जैसे बॉबी पिन या माचिस की तीली की मदद से अपने कानों से ईयरवैक्स साफ करते हैं तो ईयरवैक्स अधिक बढ़ सकता है और इस कारण आपके ईयर केनल ब्लॉक हो जाते हैं।

पियरसिंग
ईन दिनों कान में पियरसिंग कराना बहुत चलन में है लेकिन यह आपके कानों को नुकसान पहुंचा सकता है। यह आपको फैशनेबल तो बनाता है लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि आप किसी पेशेवर व्यक्ति से ही पियरसिंग कराएं। पियरसिंग कराते वक्त स्यूडोमोनस और स्टेफिलोकोकस बैक्टीरिया की वजह से गंभीर संक्रमण हो सकते हैं जिसके बारे में अधिकतर लोग जानते भी नहीं है। बहुत लोगों को पियरसिंग के दौरान रिएक्शन हो जाता है। अगर ऐसा कुछ होता है तो तुरंत किसी तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें। [ये भी पढ़ें: हार्मोन से जुड़े मिथक जिन्हें अपने दिमाग से निकाल दें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "