कमर के ऊपरी हिस्से में दर्द होने के क्या कारण हो सकते हैं

Read in English
causes of upper back pain

कमर के निचले हिस्से की तुलना ऊपरी भाग में दर्द होने की संभावना कम होती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शरीर का ऊपरी हिस्सा ज्यादा वजन सहन नहीं कर पाता है। लेकिन आपकी गर्दन से लेकर पसलियों तक का हिस्सा भी दर्द हो सकता है। कमर के ऊपरी हिस्से में दर्द चोट लगने की वजह से भी हो सकता है। साथ ही आपके खराब लाइफस्टाइल की वजह से भी कमर के ऊपरी हिस्से में दर्द हो सकता है। तो आइए आपको उन कारणों के बारे में बताते हैं जिनसे कमर के ऊपरी हिस्से में दर्द हो सकता है। [ये भी पढ़ें: शरीर से बदबू आने के कारण]

खराब पोस्चर: लंबे समय तक बैठे रहने की वजह से आपकी कमर और गर्दन की संरचना में बदलाव आ सकते हैं। इसकी वजह से आपकी मांसपेशियां कमजोर हो सकती हैं जिसकी वजह से कमर के ऊपरी हिस्से में दर्द होने लगता है। अगर आप एक तरफ होकर भी बैठते हैं तो इससे कमर का ऊपरी हिस्सा असंतुलित हो जाता है जिसकी वजह से दर्द होता है।

सही तरीके से वजन नहीं उठाना: वजन उठाते समय रीढ़ की हड्डी को सही नहीं रखने की वजह से कमर के ऊपरी हिस्से में तनाव पड़ सकता है जिससे दर्द होने लगता है। भारी समान को सिर के ऊपर उठाने खासकर वजन को बीच में ना करते हुए दाएं या बाएं तरफ उठाने पर कंधे में चोट लग सकती है। [ये भी पढ़ें: बिना कैफीन का सेवन करें खुद को कैसे जगाए रखें]

धूम्रपान: धूम्रपान करना आपके शरीर के सभी अंगों के लिए हानिकारक होता है। धूम्रपान करने से मांसपेशियों, जोड़ों और त्वचा में आक्सीजन कम हो जाती है। जिसकी वजह से कमर की ऊपरी हिस्से की मांसपेशियों में दर्द हो सकता है।

वर्कआउट: सोलसाइकिल एक्सरसाइज तब तक काम नहीं करती हैं जब तक आप स्ट्रेंथ ट्रेनिंग नहीं करते हैं। इसका मतलब शरीर के सभी अंगो पर फोकस करना होता है। बहुत सी ऐसी मांसपेशियां होती हैं जो गर्दन और कमर के पोस्चर को मेनटेन करने में मदद करती हैं। इन मांसपेशियों पर वर्कआउट के दौरान लोग ध्यान नहीं देते हैं जिसकी वजह से यह असंतुलित होकर कमजोर हो जाती हैं और दर्द होने लगता है।

आपका बैग: एक कंधे पर बैग उठाना आपके शरीर के लिए अच्छा नहीं होता है। इसकी वजह से कमर के ऊपरी हिस्से, कंधे और गर्दन पर तनाव पड़ता है। जो कमर के ऊपरी हिस्से में दर्द का कारण बन सकता है। [ये भी पढ़ें: पेट की समस्या होने पर कौन से खाद्य पदार्थ का सेवन ना करें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "