Ayuredic Tips: गर्मियों में ठंडा रहने के आयुर्वेदिक तरीके

Read in English
ayurvedic tips to stay cool

Ayurvedic tips to stay cool in summer: आयुर्वेद आपको गर्मियों के दौरान भी ठंडा रहने में मदद करता है।

Ayuredic Tips: गर्मियों में त्वचा संबंधी समस्याएं, पसीना, डिहाइड्रेशन आदि आम परेशानियां होती हैं। अगर आप इन परेशानियों से बच भी जाएं तब भी आप गर्मी से तो बच ही नहीं सकते हैं। गर्मियां हर किसी को बुरी लगती है। इस दौरान बाहर का तापमान तो ज्यादा रहता ही है साथ ही आपका शरीर भी गर्म लगने लगता है। हालांकि आयुर्वेद आपको गर्मियों में भी ठंडा रहने में मदद कर सकता है। ऐसे कई आयुर्वेदिक तरीके हैं जो आपके शरीर को ठंडा रखते हैं और गर्मियों में भी आपको स्वस्थ रहने में मदद करते हैं। गर्मियों के दौरान आपको पानी की अधिक मात्रा वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। इससे आपको डिहाइड्रेडशन नहीं होती। इसके अलावा सही मात्रा में पानी का सेवन करें क्योंकि पानी की कमी होने से आपको कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। आइए जानते हैं गर्मियों में ठंडा रहने के आयुर्वेदिक तरीके क्या हैं। [ये भी पढ़ें: Body Heat: शरीर का तापमान कम करने के लिए आसान टिप्स]

Ayuredic Tips: आयुर्वेदिक तरीके जो आपको गर्मियों में ठंडा रखते हैं

  • तापमान बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ ना खाएं
  • पित्त को शांत करने वाले आहार
  • गर्म पानी या गर्म पेय पदार्थ ना पिएं
  • कूलिंग ऑयल्स का उपयोग करें
  • सही समय पर भोजन करें

तापमान बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ ना खाएं
ऐसे कई खाद्य पदार्थ होते हैं जो आपके शरीर के तापमान को बढ़ा देते हैं इसलिए गर्मियों में शरीर को ठंडा रखने के लिए आपको इन खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए। इसलिए टमाटर, अदरक, मिर्च, खट्टे फल, चुकंदर आदि का सेवन सीमित करें। [ये भी पढ़ें: Body Heat: गर्मियों में कौन से खाद्य पदार्थ शरीर का तापमान बढ़ा देते हैं]

पित्त को शांत करने वाले आहार
गर्मियों में शरीर को ठंडा रखने के लिए पित्त का संतुलित होना जरुरी है। इसलिए वो खाद्य पदार्थ खाएं जो आपके पित्त को शांत रखें। खरबूजा, तरबूज, नाश्पाती, अंगूर आदि फलों का सेवन करें और सब्जियों में ब्रोकली, खीरा, तुरई को शामिल करें। इसके अलावा दूध और घी आदि का भी सेवन करें।

गर्म पानी या गर्म पेय पदार्थ ना पिएं
गर्म पेय पदार्थ पीने से आपको पित्त दोष हो सकता है इसलिए गर्म पानी या गर्म पेय पदार्थों का सेवन ना करें। सभी पेय पदार्थों को कमरे के तापमान पर ठंडा करके ही पिएं। [ये भी पढ़ें: गर्मियों में जलजीरा पीने से होने वाले फायदे]

कूलिंग ऑयल्स का उपयोग करें
शरीर को ठंडा रखने के लिए कूलिंग ऑयल का उपयोग करेँ। ऑयल जैसे सैंडलवुड, जैस्मिन और खस ऑयल में कूलिंग प्रोपर्टीज होती हैं। इनका इस्तेमाल आप रुम फ्रेशनर के तौर पर भी कर सकते हैं।

सही समय पर भोजन करें

ayurvedic tips to stay cool
Ayurvedic tips to stay cool in summerसही समय पर भोजन करने से आपको पित्त दोष नहीं होता।

हमेशा सही समय पर भोजन करें। दिन के मध्य में आपकी डाइजेस्टिव फायर सबसे मजबूत होती है। इस दौरान भोजन करने से आपको पित्त दोष नहीं होता। ध्यान रहें कि गर्मियों के दौरान लंच करना कभी ना भूलें। [जरुर पढ़ें: Healthy Eating Habits: भोजन करने से पहले और बाद में किन बातों का ध्यान रखें]

ये कुछ आयुर्वेदिक टिप्स हैं जो आपको गर्मियों के दौरान भी ठंडा रखने में मदद करते हैं। इस आर्टिकल को इंग्लिश में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "