Heatstroke: आदतें जिनके कारण आपको हीटस्ट्रोक हो सकता है

Read in English

Heat Stroke:

Heat Stroke: हीटस्ट्रोक शरीर की तापमान अधिक होने के कारण होता है। यह स्थिति आमतौर पर गर्मियों में होती है और लंबे तापमान तक लंबे समय तक एक्सपोजर के कारण होती है। हीटस्ट्रोक तब होता है जब आपका आंतरिक कोर तापमान 105˚F तक पहुंच जाता है और आपका शरीर स्वयं को ठंडा नहीं कर सकता है। यह गर्मी के कारण होने वाले चोटों के सबसे गंभीर रूपों में से एक है और इसके लिए आपातकालीन उपचार की आवश्यकता होती है। हीटस्ट्रोक के प्रमुख लक्षण मिचली, उल्टी, दिल की धड़कन तेज हो जाना, तेज सिरदर्द और चक्कर आना होता है। लेकिन कुछ लोगों को ऐसी आदतें होती हैं जो उन्हें कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से ग्रसित कर सकती हैं। इस संबंध में, आपको इन आदतों से अवगत होना चाहिए, ताकि आप हीटस्ट्रोक को रोक सकें। [ये भी पढ़ें: better sleep: बेहतर नींद के लिए जरुरी विटामिन्स]

Heat Stroke: किन आदतों की वजह से हीटस्ट्रोक होता है:

  • अधिक कपड़ें पहनने से
  • सनस्क्रीन का इस्तेमाल नहीं करना
  • धूप में एक्सरसाइज करने से
  • डिहाईड्रेशन के कारण
  • एल्कोहल का सेवन करने से

अधिक कपड़ें पहनने से:
काले रंग, भारी कपड़े, तंग और बहुत अधिक कपड़ा शरीर के तापमान को बढ़ाते हैं। इस तरह के कपड़े पसीने की वाष्पीकरण को प्रतिबंधित करते हैं, जो शरीर को स्वयं ठंडा करने के तरीकों में से एक है। यदि पसीने की वाष्पीकरण प्रतिबंधित हैं, तो आपका मूल तापमान संभावित रूप से खतरनाक स्तर तक बढ़ सकता है और हीटस्ट्रोक का कारण बन सकता है।

सनस्क्रीन का इस्तेमाल नहीं करना:

Sunscreen helps to prevent heat stroke
Heat stroke: हीटस्ट्रोक से बचने के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें

धूप में जानें से पहले सनस्क्रीन नहीं लगाने से हीटस्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपको पूर्ण सुरक्षा मिलती है, हमेशा एसपीएफ़ 30 या उससे अधिक एसपीएफ वाले सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें। सनस्क्रीन को सूर्य के संपर्क से 30 मिनट पहले लागू किया जाना चाहिए। [ये भी पढ़ें: घर पर सनस्क्रीन कैसे बनाएं]

धूप में एक्सरसाइज करने से:
यदि संभव हो तो गर्मियों के दौरान आउटडोर एक्सरसाइज करने से बचें। हमेशा ठंडे जगह या ठंडे मौसम में एक्सरसाइज का अभ्यास करें। यदि आप गर्मी में एक्सरसाइज करते हैं, तो हर 15 मिनट पर ब्रेक लें और पेय पदार्थो का सेवन करें ताकि आपको हीटस्ट्रोक का सामना ना करना पड़ें।

डिहाईड्रेशन के कारण:
गर्मी के समय में आपको पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए ताकि आपका शरीर हाईड्रेट रहे। हीटस्ट्रोक को रोकने के लिए आपको कम से कम 6-7 गिलास पानी पीना चाहिए। [ये भी पढ़ें: डिहाईड्रेशन के लक्षण जिनके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे]

एल्कोहल का सेवन करने से:
बियर का सेवन गर्मियों में आपकी प्यास बुझा सकता है। लेकिन यह हाइपर्मिया का खतरा बढ़ सकता है क्योंकि एल्कोहल ड्यूरेटिक होता है और डिहाईड्रेशन का कारण बनता है।

[जरूर पढ़ें: स्वस्थ किडनी के लिए कौन से खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें]

गर्मी के दौरान हीटस्ट्रोक एक आम और गंभीर समस्या है। चूंकि हीटस्ट्रोक एक गंभीर समस्या है, इसलिए इस गंभीर स्वास्थ्य समस्या को रोकने के लिए सावधानी बरतना अनिवार्य है।

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "