जानिए रबिंग एल्कोहल से होने वाले फायदों के बारे में

Read in English
amazing benefits of rubbing alcohol

रबिंग एल्कोहल को आइसोप्रोपाइल एल्कोहल भी कहते हैं। जिसका कई औषधीय प्रोडक्ट बनाने में इस्तेमाल किया जाता है। यह एक एंटीसेप्टिक, क्लीनिंग एजेंट की तरह काम करता है। यह गंदगी और तेल को कम कर देता है। यह एक पॉवरफुल निस्संक्रामक के रूप में काम करता है। इसमें 70 प्रतिशत ऐथेनॉल और 30 प्रतिशत डिस्टिल वॉटर होता है। घर के कई काम में यह क्लीनिंग एल्कोहल की तरह काम करता है। रबिंग एल्कोहल एक सक्रिय सामग्री है जो कई प्रोडक्ट में इस्तेमाल होता है साथ ही सतहों से कीटाणु दूर करने में मदद करता है। तो आइए आपको इसके फायदों के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: विटामिन्स के सेवन की जानकारी: क्या खाएं और क्या ना खाएं]

हल्की चोट लग जाना: थोड़ी-बहुत चोट के लिए रबिंग एल्कोहल एक सही सामग्री है। यह नेचुरल एंटीसेप्टिक चोट लगी जगह से बैक्टीरिया नष्ट करने में मदद करता है और उनकी ग्रोथ को कम कर देता है। साथ ही इसे चोट पर लगाने से खून आना बंद हो जाता है। इसके लिए कॉटन बॉल की मदद से रबिंग एल्कोहल को चोट पर लगाएं। इसे कुछ मिनट तक चोट पर लगे रहने दें। रबिंग एल्कोहल त्वचा को शुष्क कर देता है उसके बाद एलोवेरा जेल या मॉइश्चराइजर लगा लें।

मुंहासें से रोकथाम करता है:
amazing benefits of rubbing alcohol मुंहासों पर रबिंग एल्कोहल लगाने से इनसे रोकथाम होती है। इसके आराम पहुंचाने वाले गुणों की मदद से यह त्वचा से गंदगी साफ करने, रोमछिद्रों को खोलने में मदद करते हैं। इसके लिए कॉटन बॉल की मदद से मुंहासों पर रबिंग एल्कोहल लगाएं। उसे 10 मिनट तक लगे रहने दें। उसके बाद चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें और एलोवेरा जेल लगा लें। इस तरह से दिन में 2 बार करें। [ये भी पढ़ें: इन टिप्स की मदद से कैफीन की लत को करें दूर]

पैरो के नाखूनों पर लगने वाली फंगस:
रबिंग एल्कोहल में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो पैरो के नाखूनों पर लगने वाली फंगस को हटाता है। ड्राइंग एजेंट होने के कारण यह फंगस की ग्रोथ की रोकथाम करता है। यह इंफेक्शन के कारण होने वाली जलन और दर्द को भी कम करता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए रबिंग एल्कोहल और सिरके को सामान मात्रा में मिला लें। अब कॉटन की मदद से इसे पैरों के नाखून पर लगाएं। उसके बाद नाखून पर बैंडेज लगा लें।

सिर की जुएं खत्म करता है:
सिर में जुएं की वजह से काफी खुजली होती है। जिसे सहन करना ना मुमकिन सा हो जाता है। इस समस्या के लिए आइसोप्रोपाइल एल्कोहल को सिर में रगड़ें। यह जुओं को नष्ट करने में मदद करते हैं।

मसल्स के दर्द को कम करता है: मांसपेशियों में आए खिंचाव और दर्द को रबिंग एल्कोहल की मदद से दूर किया जा सकता है। यह प्रभावित क्षेत्र में रक्त प्रवाह को बढ़ाकर दर्द और सूजन को कम कर देता है। [ये भी पढ़ें: सुबह की आदतें जिनसे हो सकता है मेटाबॉल्जिम बूस्ट]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "