प्रेग्नेंसी टेस्ट के नेगेटिव होने के पीछे हो सकती हैं ये वजह

some reason of negative pregnancy test

गर्भावस्था जांच के जरिए महिला में ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन (एचसीजी) हार्मोन के होने का पता लगाया जाता है। गर्भावस्था जांच का परिणाम अगर नकारात्मक होता है तो यह आपके दिमाग में कई तरह के सवाल खड़े कर देता है। बहुत सी महिलाओं के लिए ये आम सवाल होता है कि क्या उन्हें इस जांच पर विश्वास करना चाहिए या फिर अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। अगर परीक्षण नकारात्मक है तो इसका मतलब है कि जांच के दौरान महिला में एचसीजी हार्मोन की उपलब्धता नहीं थी या कम थी। टेस्ट का परिणाम नकारात्मक आने के पीछे और भी कई कारण हो सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ वजहों के बारे में जिनके कारण आपका टेस्ट नेगेटिव रहा। [ये भी पढ़ें: क्या समय से पहले प्रेग्नेंसी टेस्ट करना गलत है?]

आप गर्भवती नहीं है:
some reason of negative pregnancy testगर्भावस्था जांच के नकारात्मक परिणाम का सबसे स्पष्ट जवाब यही होगा कि आप गर्भवती नहीं हैं। अगर आप मां बनने की कोशिश कर रही थी और आपने गर्भवास्था के लक्षण जैसे आपने फिर से पीरियड्स मिस किए हैं, या अन्य लक्षण अनुभव कर रही हैं तो आपको सलाह होगी कि आप थोड़े दिनों तक इंतजार करें और फिर से जांच करें। इसके बाद भी जांच नकारात्मक है तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और उन्हें इस स्थिति के बारे में बताना चाहिए। पीरियड्स देर से और अनियमित होने के और भी कारण हो सकते हैं, इसलिए इनकी जांच कराना जरुरी है।

समय से पहले जांच: ऐसे कई प्रेग्नेंसी टेस्ट हैं जो गर्भधारण के शुरुआती दौर में ही सही परीक्षण करने का दावा करते हैं। इनका कहना होता है कि उनकी मदद से महिलाएं पीरियड्स मिस होने से 5 दिन पहले ही जांच कर सकती है। लेकिन ये परीक्षण हर किसी के लिए काम नहीं करते हैं। शुरुआती दिनों में ही परीक्षण करने से आपको नकारात्मक परिणाम दिख सकता है, जबकि आप वास्तव में गर्भवती हो इसलिए विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि अधिक जल्दी नहीं बरतनी चाहिए। आपके लिए जरुरी है कि जब तक आप इंतजार करें तब तक की आपके पीरियड्स ना छूटने लगे और इसके बाद फिर से टेस्ट करें। [ये भी पढ़ें :गर्भावस्था जांच से डर रहे हैं तो ये उपाय करेंगे मदद]

पूर्व गर्भपात या केमिकल प्रेग्नेंसी: यह दुख की बात है लेकिन ऐसा हो सकता है। किन्ही कारणों से जांच से पूर्व गर्भपात होना संभव है। इसी कारण प्रेग्नेंसी के लक्षण मिलने के बाद भी परीक्षण का परिणाम नकारात्मक दिख रहा है और आपके यूरिन में एचसीजी हार्मोन भी उप्लब्ध नहीं हैं। यह आमतौर पर हो सकता है। अगर आपको पहली जांच में सकारात्मक परिणाम मिलें है और दूसरी जांच में नकारात्मक परिणाम आ रहे हैं तो इसके पीछे यही कारण हो सकता है कि आपका पूर्व गर्भपात हो गया है। इस अवस्था को केमिकल प्रेग्नेंसी भी कहते हैं।

परीक्षण गलत था:
some reason of negative pregnancy testपरीक्षण करते वक्त की गई कई तरह की गलतियों के कारण भी आपके परीक्षण का परिणाम आपके चाहने के विपरीत हो सकता है। अगर आप गर्भधारण कर चुकी हैं और फिर भी रिजल्ट विपरीत आ रहा है तो इसके पीछे यही कारण हो सकता है। ऐसा भी संभव है कि आपने समय अंतराल के अंदर परीक्षण को नोट नहीं किया जिसकी वजह से सही रीडिंग नहीं कर पाई। हालांकि यह एक महिला से दूसरी महिला में भिन्न हो सकता है, इसलिए जरुरी है कि आप टेस्ट करने से पहले इंस्ट्रक्शन सही से पढ़ लें।

आपके लिए सलाह: अगर आप मां बनने की उम्मीद कर रही थी और आपकी जांच का परिणाम आपकी इच्छा के विरुद्ध रहा तो सबसे पहले रिलैक्स करें। गहरी सांस लें और थोड़ा इंतजार करें। सबसे पहला कदम होगा की आपको फिर से टेस्ट करना चाहिए। इसके बाद भी टेस्ट नकारात्मक आता है तो अपने डॉक्टर से बात करें। अगर सकारात्मक परिणाम आता है तो अपनी प्रेनेटल केयर की शुरुआत कर दें।  [ये  भी पढ़ें : क्या समय से पहले प्रेग्नेंसी टेस्ट करना गलत है?]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "