आखिर क्यों प्रेग्नेंसी टेस्ट किट पर पूरी तरह भरोसा नहीं किया जा सकता

Reasons why You Can't Rely completely On Home Pregnancy Test Kit

अधिकतर महिलाओं को लगता है कि होम प्रेग्नेंसी टेस्ट गर्भावस्था की जांच के लिए बेहतर उपाय हैं लेकिन क्या आपने सोचा है कि ये भरोसे लायक है या नहीं। देखा जाए तो आपको गर्भावस्था की जांच के लिए स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास जाना अधिक बेहतर विकल्प होगा। क्योंकि होम प्रेग्नेंसी टेस्ट अधिक भरोसेमंद नहीं होते। हालांकि महिलाएं अपने गर्भधारण की जांच करने के लिए घर पर ही प्रेग्नेंसी किट का इस्तेमाल अधिक करती हैं, क्योंकि इससे वह गोपनीयता का अनुभव करती हैं। उसी तरह अविवाहित जोड़े को गर्भावस्था की जांच कराने के लिए क्लीनिक जाना असहज लग सकता है, इसलिए वो प्रेग्नेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन यहां कुछ कारण हैं जो बताते हैं कि प्रेग्नेंसी किट सही विकल्प नहीं है। [ये भी पढ़ें : गर्भावस्था जांच से डर रहे हैं तो ये उपाय करेंगे मदद]

पहला तथ्य:
टेस्ट किट पर निर्धारित निर्देश दिये जाते हैं जो कि इस्तेमाल करने जरुरी होते हैं। यदि उन्हें ठीक से नहीं पढ़ा जाए और उनका पालन ना किया जाये तो परिणाम सही नहीं होंगे।

दूसरा तथ्य:
जांच के तुरंत बाद अगर आप रीडिंग नहीं पढ़ती है तो आपको सही परिणाम मिलने की संभावनाएं घट जाती हैं। थोड़े समय बाद टेस्ट किट सूखने लगती है (क्योंकि यूरिन की बूंदे सूख जाती है) जिसके कारण टेस्ट किट पर दोनों लाइन डार्क हो जाती है, जो कि सकारात्मक परिणाम की तरह लगता है। इससे किसी को भ्रम हो सकता है कि वह गर्भवती है। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी टेस्ट के नेगेटिव होने के पीछे हो सकती हैं ये वजहें]

तीसरा तथ्य:
टेस्ट किट का काम आमतौर पर ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन हार्मोन के स्तर पर पर निर्भर करता है, जो कि प्रेग्नेंसी के दौरान महिला में होते हैं। अगर जांच थोड़ा पहले कर लिया जाए तो आपके गर्भवती होने के बाद भी नकारात्मक परिणाम मिल सकते हैं।

चौथा तथ्य:
Reasons why You Can't Rely completely On Home Pregnancy Test Kitकुछ टेस्ट किट पॉजिटिव परिणाम देते हैं जो कि असल में झूठे होते हैं, जिसके कारण कभी-कभी अनियोजित गर्भावस्था की वजह से डर और असहजता की भावना उत्पन्न कर देती है। वहीं दूसरी ओर उन दंपतियों के लिए नकारात्मक परिणाम दुखदायी हो सकता है, जो कि बेसब्री से बच्चे मां-बाप बनने का इंतजार कर रहे हैं।

पांचवा तथ्य:
इन सभी तथ्यों के साथ-साथ कुछ ऐसी संभावनाएं भी हो जाती है जो कि किसी महिला को भावनात्मक तौर पर ठेस पहुंचा सकती है। सर्वे बतातें है कि सिंगल वुमेन जो कि प्रेग्नेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल करती हैं। उन्हें कई बार झूठे सकारात्मक परिणामों के कारण काफी बुरा महसूस होता है और इसी वजह से वो गर्भपात के घरेलू उपायों का इस्तेमाल करती हैं जो कि सेहत के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

छठां तथ्य:
Reasons why You Can't Rely completely On Home Pregnancy Test Kitकुछ मेडिकेशन की वजह से भी टेस्ट किट के परिणामों पर असर पड़ सकता है। जिसके कारण आपको झूठे नकारात्मक या सकारात्मक परिणाम मिल सकते हैं। कुछ ड्रग्स जिसमें एचसीजी होता है और कुछ अन्य ड्रग्स टेस्ट किट के परिणामों को प्रभावित कर सकते हैं।

सातवां तथ्य:
अगर महिला किसी मेडिकल कंडीशन्स में हैं तो उसकी वजह से भी प्रेग्नेंसी किट का उपयोग करके वक्त सही रिजल्ट नहीं प्राप्त होते हैं। कुछ स्वास्थ्य समस्याएं जैसे लीवर की समस्या या ट्यूमर की समस्या आदि के कारण टेस्ट किट से जांच करते वक्त आपको सही परिणाम नहीं मिलते हैं। [ये भी पढ़ें: क्या समय से पहले प्रेग्नेंसी टेस्ट करना गलत है?]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "