Pregnancy Test: प्रेग्नेंसी टेस्ट कितने प्रकार के होते हैं

Read in English
What types of pregnancy test are available

Pregnancy Test: प्रेग्नेंसी टेस्ट के कितने प्रकार होते हैं

Pregnancy Test: प्रेग्नेंसी टेस्ट के कई प्रकार के होते हैं लेकिन उनमें से यूरिन और ब्लड टेस्ट प्रेग्नेंसी का सबसे आम प्रकार होता है। पीरियड्स मिस कर देना प्रेग्नेंसी के लक्षणों में सबसे आम होता है। लेकिन कई बार पीरियड्स मिस हो जानें का मतलब यह नहीं होता है कि आप प्रेग्नेंट हैं या फिर ब्लड या यूरिन टेस्ट हमेशा सही हो ऐसा भी जरूरी नहीं होता है। ऐसे में आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करने के साथ-साथ और भी प्रेग्नेंसी टेस्ट के बारे में अवगत होना चाहिए जो आपको सही परिणाम प्राप्त करने में मदद करेगें। प्रेग्नेंसी टेस्ट करने से पहले आपको कई बातों के बारे में पता होना जरूर है ताकि आपको किसी प्रकार की परेशानी होने की संभावना ना हो। [ये भी पढ़ें: चीनी की मदद से घर पर ही कैसे करें प्रेग्नेंसी टेस्ट]

Pregnancy Test: प्रेग्नेंसी के प्रकारों के बारे में जरूर जान लें

  • यूरिन टेस्ट
  • ब्लड टेस्ट
  • क्वालिटेटिव एचसीजी टेस्ट
  • क्वांटिटेटिव एचसीजी टेस्ट

यूरिन टेस्ट:
प्रेग्नेंसी टेस्ट करने का यह एक आम तरीका होता है। इसका सही परिणाम प्राप्त करने के लिए सुबह की सबसे पहली पेशाब का इस्तेमाल करना प्रभावी होता है। लेकिन खुद से इस टेस्ट को करने के बाद भी आपको अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर कर लेनी चाहिए।

ब्लड टेस्ट:
ब्लड टेस्ट पर भरोसा किया जा सकता है और यह आपको सही परिणाम प्राप्त करने में भी मदद करता है। दो प्रकार के ब्लड टेस्ट होते हैं- क्वालिटेटिव एचसीजी टेस्ट और क्वांटिटेटिव एचसीजी टेस्ट।

1. क्वालिटेटिव एचसीजी टेस्ट:
क्वालिटेटिव एचसीजी गर्भावस्था के संकेत को डिटेक्ट करने में मदद करता है। पीरियड्स मिस होने के दसवें दिन इस टेस्ट से प्रेग्नेंसी डिटेक्ट होता है। रक्त में एचसीजी की उपस्थिति पुष्टि करता है कि आप गर्भवती हैं।

2. क्वांटिटेटिव एचसीजी टेस्ट:
ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोफिन(एचसीजी) नामक हार्मोन गर्भावस्था से जुड़ी किसी भी जटिलता को परिभाषित करता है और यह हार्मोन यूटेरस वॉल से जुड़ा होता है जो फर्टिलाइज्ड एग के डेवेलप होता है। गर्भावस्था के दौरान समस्याओं का निदान और उपचार करने में यह सहायक हो सकता है और अगर किसी महिला को दुर्भाग्य से गर्भपात का सामना करना पड़ता है तो उसके इलाज में भी मदद मिलती है। [ये भी पढ़ें: अगर शरीर में दिख रहे हैं ये लक्षण तो करें प्रेग्नेंसी टेस्ट]

प्रेग्नेंसी के अनेकों प्रकार होते हैं और आपको उन सभी प्रकारों से अवगत होने की जरूरत है ताकि जरूरत पड़ने पर आपको किसी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़ें।

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "