दूसरी गर्भावस्था के बारे में दिलचस्प बातें

Read in English
What are the interesting things to know about your second pregnancy

अपनी पहली गर्भावस्था के बाद आप बहुत सी बाते जान जाते हैं और इस वजह से आपको पता होता है कि दूसरे गर्भावस्था के दौरान आपके लिए क्या सही होगा और क्या नहीं। हर गर्भावस्था में आपके शरीर में होने वाले परिवर्तन, लक्षण और अनुभव लगभग एक जैसे ही होते हैं। आप अपने गर्भावस्थ के लक्षणों के बारे में कुछ महीने पार करने के बाद धीरे – धीरे अंतर का पता लगा सकते हैं। कुछ महीनों पहले या कुछ महीने बाद आपको कुछ लक्षणों का अनुभव हो सकता है। यदि आप अपनी दूसरी गर्भावस्था के लिए योजना बना रहे हैं, तो आपको इसके कुछ अंतर को समझना चाहिए वरना आपके और आपके बच्चे के लिए घातक हो सकता है। आइए हम उन ध्यान देने योग्य मतभेदों पर चर्चा करें जो आप अपनी पहली गर्भावस्था के बाद अनुभव कर सकते हैं। आइए जानते हैं दूसरी गर्भावस्था के बारे में दिलचस्प बातें। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान पेट दर्द होने के पीछे के लक्षण]

आप पहले बच्चे की गतिविधि महसूस करते हैं:
केवल एक मां अपने गर्भ के अंदर बच्चे की गतिविधि को महसूस कर सकती है। पहली गर्भावस्था के दौरान आप उन गतिविधि को एसिडिटी समझने की भूल कर लेते हैं। लेकिन दूसरी गर्भावस्था के दौरान यह आपके लिए स्पष्ट हो जाता है वो आपके बच्चे की गतिविधि है। तो आपका शरीर और अधिक सक्रिय हो जाता है।

थकान:
आप पहले से ही गर्भावस्था के कारण होने वाले थकान का सामना कर चुके होते हैं। शरीर में प्रोजेस्टेरोन का स्तर बढ़ जाने के कारण थकान महसूस होने लगता है। प्रोजेस्टेरोन का प्रभाव गर्भधारण के एक महीने बाद दिखता है। तो इसलिए इस बार गर्भाधारण के एक सप्ताह के बाद आपको थकान महसूस हो सकती है। [ये भी पढ़ें: कारण जिनसे गर्भावस्था के दौरान हार्ट रेट बढ़ सकती है]

बेबी बंप:
आपकी प्रेग्नेंसी बंप समय के पहले बाहर आ सकती है। आपकी पहली गर्भावस्था के दौरान आपके एब्डॉमिनल एरिया में अधिक खिंचाव आता है। तो इसलिए दूसरी प्रेग्नेंसी के दौरान बेबी बंप में अधिक खिंचाव नहीं आएगा और आपको बहुत ज्यादा तनाव नहीं होगा। लेकिन बंप का आकार पहले से अधिक नहीं होगा।

स्पॉटिंग:
आप अपनी दूसरी गर्भावस्था के दौरान ऐंठन और स्पॉटिंग का अनुभव सामान्य रूप से करेंगे। फर्टिलाइजेशन के 6 से 12 दिन के अंदर आप ये अनुभव कर सकते हैं। जब भ्रूण गर्भाशय की दीवार से जुड़ा होता है तो फर्टिलाइजेशन उस अवधि के दौरान ही होता है।

वजन बढ़ना सामान्य है:
समय से पहले वजन का बढ़ना दूसरी प्रेग्नेंसी के लक्षणों में से एक है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि एक महिला के शरीर की मांसपेशियों में पहली प्रेग्नेंसी के बाद खिंचाव आ जाता है तो इसलिए दूसरी प्रेग्नेंसी के बाद ज्यादा खिंचाव होना स्वभाविक होता है। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान उल्टी आने के पीछे क्या कारण हो सकते हैं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "