प्रेग्नेंसी के दौरान दिख सकते है ये अजीबो-गरीब लक्षण

Read in English
Some weird symptoms visible during pregnancy

Photo Credit: justmommies.com

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के परिवर्तन देखने को मिलते हैं। बहुत से ऐसे लक्षण हैं जिनसे आपको मां बनने के एहसास का पता चलता है। म्यूकस डिस्चार्ज, पीरियड का मिस होना इन खास लक्षणों में शामिल हैं। मगर कुछ अनोखे लक्षण जो ऐसे भी होते हैं जिनका अनुभव लगभग हर प्रेग्नेंट महिला करती हैं। चूंकि ये लक्षण इतने सामान्य हैं कि ज्यादातर महिलाएं इन लक्षणों पर ध्यान नहीं देती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले इन अजीब लक्षणों के बारे में जानना बेहद जरुरी है।

1.दांतों में परेशानी होना:
Some weird symptoms visible during pregnancyआपके शरीर के बाकी भागों की तरह आपके मसूड़ों में भी सूजन आ जाती है। यह सब आपके शरीर में रक्त की मात्रा बढ़ने पर प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन के स्तर में बदलाव के कारण होता है। प्रेग्नेंट महिला के मसूड़ों में रक्त की मात्रा बढ़ जाने से ब्रश करते समय खून आने लगता है। अगर ब्रश करने के बाद भी खून आए तो आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। क्योंकि यह मसूड़ों में सूजन होने के साथ यह आपकी हड्डियों को भी प्रभावित कर सकता है। जिससे प्रीटर्म लेबर और बच्चे का वजन कम होने के खतरे के अलावा जाने के साथ दांत टूटने जैसी गंभीर परेशानी हो सकती है। [ ये भी पढ़ें : ये हैं वो कारण जिनके वजह से होता है प्रेग्नेंसी के दौरान माइग्रेन]

2.नाक में परेशानी:
हार्मोंस में बदलाव की वजह से आपकी नाक में भी सूजन आ जाती है। जिससे आपको खर्राटें लेने, नाक से खून जैसी परेशानी हो जाती है। सूजन की वजह से सांस लेने में भी दिक्कत होने लगती है। आपकी नाक में सूखापन आ जाता है जिससे सर्दियों में ज्यादा परेशानी होती है। इसे आप भाप लेकर नाक की परेशानी को थोड़ा कम कर सकते हैं।

3.पेट में परेशानी:
Some weird symptoms visible during pregnancyप्रोजेस्टेरोन में वृद्धि के बाद जब आप खाना खाती हैं तो उससे पेट से आंत तक खाना आने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है जिससे कब्ज की समस्या उत्पन्न होती है। प्रिनेंटल विटामिन आपके शरीर से ज्यादा मात्रा में पानी अवशोषित करने लगता है। इसके लिए आपको ज्यादा पानी पीना चाहिए, साथ ही ताजे फल, हरी सब्जियां और साबुत अनाज का सेवन करना चाहिए। जिससे आपकी आंतों में पानी रुक सके और ठोस पदार्थ आसानी से शरीर से बाहर जा सके।

4.नसों में तनाव:
आपके बच्चे को ऑक्सीजन और पोषक तत्वों के लिए ज्यादा मात्रा में रक्त की आवश्यकता पड़ती है। 20 हफ्तों तक आपके रक्त का संचार 50% तक बढ़ जाता है। आपके शरीर में वैरिकाज और स्पाइडर वेन का बनना आम होता है। इससे निजात पाने का कोई उपाय नहीं है। मगर आप सूजन और दर्द को कम कर सकते हैं। पैरों में बैंडेज बांधकर आप दर्द को कम कर सकते हैं। कुछ और तरह के तनाव भी होते हैं जो नसों में तनाव के बढ़ने या बच्चे के वजन से होते हैं।

5.त्वचा में परेशानी:
Some weird symptoms visible during pregnancyआपने सुना होगा की प्रेग्नेंसी में हार्मोंस की वजह से आपको मुहांसे, त्वचा के काला पड़ने जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं। क्या आपको पता है आपकी गर्दन, अंडरआर्म और ब्रेस्ट पर स्किन टैग हो जाते हैं। स्किन टैग में शरीर पर स्किन के छोटे-छोटे थक्के बन जाते हैं इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान क्रीम का इस्तेमाल सोच समझ करें। [ये भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान त्वचा में होते हैं ये बदलाव]

6.पैर में सूजन आ जाना:
प्रेग्नेंसी के दौरान पैर और टखने  में सूजन आ जाती है, कुछ महिलाओं में बच्चे के जन्म से पहले पैर भारी हो जाते है। यह हार्मोंस में बदलाव की वजह से होता है। जिससे आपके पैरों में असर पड़ता है और आपका पैर लंबा और चौड़ा हो जाता है इसमें परेशान होने की जरुरत नहीं है कुछ समय के बाद यह समस्या खुद ठीक हो जाती है।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "