जानिए गर्भ में हिचकी क्यों लेता है बच्चा

why baby get hiccups in womb

प्रेग्नेंसी के दूसरी तिमाही के बाद से बच्चे की लात मारना, हिलना-ढूलना महसूस होने लगता है। अगर आपको पेट में ऐंठन महसूस होती है तो जोर से हंसे तो आपको महसूस होगा कि आपका बच्चा हिचकी ले रहा है। बच्चे का हिचकी लेना उसके स्वस्थ विकास के संकेत होते हैं। बच्चे के तंत्रिका तंत्र के पूरी तरह विकसित होने बाद जिससे वह सांस ले सकता है तब हिचकी लेना शुरु करता है। बच्चे के हिचकी लेने से मां को ऐसा महसूस होता है कि बच्चा पेट पर किस कर रहा हो और पेट में हलचल ही महसूस होती है। बच्चे के हिचकी आने पर परेशान होने की जरुरत नहीं है दूसरी-तीसरी तिमाही के दौरान ऐसा रोजाना होता है। तो आइए आपको बच्चे के गर्भ में हिचकी लेने के पीछे के कारण बताते हैं। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान पेट दर्द होने के पीछे क्या कारण होते हैं]

डायफ्राम में संकुचन होना: भ्रूण के एमिनोटिक एसिड में सांस लेने की वजह से हिचकी आती है। तंत्रिका तंत्र का उत्पादन हो जाने के बाद एमिनोटिक एसिड भ्रूण के फेफड़ो से अंदर और बाहर बहता है। जिसकी वजह से डायफ्राम संकुचित होता है और बच्चा हिचकी लेता है।

अंबिलिकल कोर्ड का संपीडित होना: यह एक गंभीर मेडिकल परिस्थिति होती है। अगर इस पर ध्यान ना दिया जाए तो बच्चे को खतरा हो सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बच्चे को सांस लेने के लिए हवा नहीं मिल पाती है जिसकी वजह से अंबिलिकल कोर्ड भ्रूण की गर्दन पर लिपट जाती है। जिससे हार्ट रेट बढ़ जाती है और भ्रूण के पास रक्त का प्रवाह कम हो जाता है। अगर दूसरी और तीसरी तिमाही के दौरान बच्चे की हिचकी लेने की संख्या कम हो जाए तो डॉक्टर के पास जाना चाहिए। [ये भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान सुरक्षित रहने के लिए इन कामों से करें परहेज]

फ्यूचरिस्टिक रिफ्लक्स: जो बच्चे ज्यादा सक्रिय होते हैं वह बाहर आने के लिए काफी बेचेन होते हैं। बच्चे का हिचकी लेना बेचेन होना भी हो सकता है। जब डिलिवरी का समय होता है तो उनके कई शरीर पर कई जगह घाव होते हैं ऐसा होने के पीछे का कारण हिचकी लेना भी होता है। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान घर के कुछ कामों से करें परहेज]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "