प्रेग्नेंसी के दौरान जरुर बरते ये सावधानियां

what precautions to take during pregnancy

Photo Credit: medscape.com

प्रेग्नेंसी का शुरुआती दौर काफी मुश्किल होता है क्योंकि इस समय आपके शरीर में बहुत सारे बदलाव हो रहे होते हैं। इस दौरान शरीर के हार्मोन्स में बदलाव हो रहे होते हैं। बच्चे और अपने स्वास्थ्य के लिये आपको कई तरह की सावधानियां बरतनी पड़ती है। आइए जानते हैं क्या हैं वो सावधानियां।
1.हानिकारक आदतों को छोड़ दें:
what precautions to take during pregnancyप्रेग्नेंसी के दौरान सिगरेट और एल्कोहल का सेवन करना बंद कर देना चाहिए। अत्यधिक एल्कोहल के सेवन से भ्रूण को एल्कोहल सिंड्रोम हो सकता है और ज्यादा सिगरेट पीने से शिशु को डेथ सिंड्रोम हो जाता है। इसके साथ ही प्रीमिच्योर डिलीवरी या मिसकैरेज होने का भी डर रहता है।
2.विटामिन का सेवन करें:
गर्भवती महिला के भोजन मे कम से कम 400 मिलीग्राम फॉलिक एसिड होना चाहिए। फॉलिक एसिड भ्रूण के विकास में न्यूरल ट्यूब में होने वाली किसी भी परेशानी को रोकता है। कैल्शियम,आयरन और साबुत अनाज का भी सेवन करना चाहिए। साथ ही हरी सब्जियां और ताजे फल का भी सेवन करना चाहिए। [ये भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान भूलकर भी नहीं करें ये गलतियां]
3.कैफीन का सेवन कम करें:
what precautions to take during pregnancyप्रेग्नेंट महिला को प्रेग्नेंसी के दौरान कॉफी का सेवन कम कर देना चाहिए। इससे मिसकैरेज होने का डर रहता है। साथ ही चॉकलेट खाना भी कम कर देना चाहिए।
4.शरीर में पानी की मात्रा कम ना होने दें:
what precautions to take during pregnancyप्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में रक्त की मात्रा बढ़ जाती है इसलिए ज्यादा पानी पीना चाहिए। ताकि शरीर में बढ़ रही हार्मोंस की मात्रा को सही रखने में मदद की जा सके।
5.हॉट बॉथ से बचें:
कभी-कभी लंबे समय तक गर्म पानी से नहाना अच्छा होता है पर रोज देर तक नहाना ठीक नहीं होता है। इससे आपका पेट ज्यादा गर्म हो जाता है और बच्चे के विकास में परेशानी होती है। बच्चे के जन्म के बाद आप हॉट बॉथ ले सकती हैं मगर प्रेग्नेंसी के समय इसे अवॉइड करना बेहतर होगा। [ये भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी के तीसरे महीनें में फायदेमंद हैं ये व्यायाम]
6.कृत्रिम खाद्य पदार्थों से बचें:
खाने में मिलाए जाने वाले रंग या मसालों का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। यह प्रेग्नेंसी के दौरान बच्चे के लिए हानिकारक होते हैं। साथ ही सूप में डलने वाले मसालों के सेवन से भी बचना चाहिए। क्योंकि शुरुआती दिनों में इस तरह के मसाले, रंग भ्रूण के लिए हानिकारक होते हैं।
7.डॉक्टर की सलाह से ही दवाइयां लें:
सिर्फ डॉक्टर की बताई हुई दवाइयों का ही सेवन करें अगर आप किसी दर्द की दवा का सेवन करते हैं, तो उसे लेना बंद कर दीजिए। इसी तरह हर्ब का सेवन भी डॉक्टर से पूछ कर करना चाहिए क्योंकि कुछ हर्ब से भ्रूण के विकास में परेशानी होती है।
8.एक्सरसाइज:
what precautions to take during pregnancyअगर आपकी प्रेग्नेंसी में कोई परेशानी नहीं है तो आप इन दौरान एक्सरसाइज कर सकती हैं लेकिन आपकी प्रेग्नेंसी के दौरान परेशानियां आ रही हैं तो आपको एक्सरसाइज बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए। खासकर शुरूआती समय में बिल्कुल नहीं करनी चाहिए। 6 महीने बाद डॉक्टर की सलाह से आप एक्सरसाइज करना शुरु कर सकती हैं।
9.मछली सावधानी से खाएं:
अगर आप मछली खाती हैं तो इसका खास ध्यान रखना चाहिए क्योंकि कुछ मछलियों में ओमेगा-3 फैटी एसिड और प्रोटीन होते हैं, जो बच्चे के विकास के लिए अच्छे होते हैं। मगर कुछ मछलियों में मरकरी का लेवल ज्यादा होता है जो बच्चे के विकास में बाधा उत्पन्न करते हैं इसलिए मछली खाने से पहले एक बार पता कर लें की इस मछली से आपको हानि ना पहुंचे।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "