Iodine deficiency: गर्भावस्था के दौरान आयोडीन की कमी क्यों हानिकारक है

Read in English
Iodine Deficiency During Pregnancy

गर्भवती महिला को बच्चे के विकास के लिए उचित मात्रा में आयोडीन लेना चाहिए।

Iodine deficiency: गर्भावस्था के दौरान आपको बहुत सावधानी बरतनी होती है। अक्सर गर्भवती महिला के शरीर में उचित पोषण की कमी हो जाती है। आयोडीन, आयरन आदि की कमी गर्भावस्था के दौरान सामान्य है। गर्भवती महिला के लिए एक सक्रिय जीवनशैली के साथ स्वस्थ और अच्छी तरह से पोषित आहार भी जरुरी गै। हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जो भी गर्भवती महिला खाती है, वह सीधे बच्चे के शरीर को प्रभावित करता है। बच्चे के विकास के लिए आयोडीन महत्वपूर्ण पोषक तत्व है। यह गर्भावस्था के दौरान ऊर्जा को बढ़ाने में मदद करता है। इस प्रकार, बच्चे के स्वस्थ विकास करने के लिए गर्भवती महिला को आयोडीन का सेवन करना चाहिए। आइए जानते हैं कि गर्भावस्था के दौरान आयोडीन की कमी क्यों हानिकारक है। [ये भी पढ़ें: संकेत कि गर्भ में आपका शिशु स्वस्थ है]

Deficiency of iodine: शरीर में आयोडीन की कमी के सामान्य जोखिम

  • क्रेटिनिस्म
  • अनुचित विकास
  • गोइटर
  • गर्भपात

क्रेटिनिस्म (Cretinism)
क्रेटिनिस्म शरीर में आयोडीन की कमी के सबसे आम दुष्प्रभावों में से एक है। यह बच्चे के मस्तिष्क के विकास को प्रभावित करता है और बच्चे के दिमाग पर गहरा असर डालता है। यह आजीवन मानसिक बीमारी का कारण बन सकता है।

अनुचित विकास

What are the dangers of deficiency of iodine during pregnancy
Deficiency of iodine: आयोडीन की कमी गर्भ में बच्चे के विकास को रोकती है।

गर्भावस्था के दौरान आयोडीन की कमी जन्म के बाद बच्चे के विकास और बढ़ोतरी पर गहरा असर डाल सकती है। यह बच्चे के मानसिक विकास को रोकती है और शारीरिक विकास को भी प्रभावित करती है। यह हानि तब से शुरू होती है जब बच्चा गर्भ में होता है।

गोइटर
हालांकि यह समस्या दुर्लभ है लेकिन नवजात शिशुओं में भी गोइटर हो सकता है। यह बेहद खतरनाक है और बच्चों के सामान्य रुप से कार्य करने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है। इसलिए, गर्भवती महिला को शरीर में आयोडीन की आपूर्ति के लिए आहार लेना चाहिए।

गर्भपात

deficiency of iodine during pregnancy
Deficiency of iodine: आयोडीन की कमी गर्भपात का कारण बन सकती है।

गर्भपात सिर्फ दुखद ही नहीं बल्कि खतरनाक भी है। यह महिला के शरीर पर गहरा प्रभाव डालता है। आयोडीन की कमी से गर्भपात हो सकता है। इस प्रकार, आपको स्वस्थ आहार का सेवन करना चाहिए।

[जरुर पढ़ें: किन प्रमुख कारणों से हो सकता है गर्भपात]

ये गर्भावस्था के दौरान आयोडीन की कमी के कुछ आम जोखिम हैं। इसलिए, गर्भवती महिला को अपने आहार का ख्याल रखना चाहिए और स्वस्थ भोजन खाना चाहिए। आप इस आर्टिकल को इंग्लिश में भी पढ़ सकते हैं।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "