Dry Feet during Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान रूखे पैरों के लिए घरेलू उपचार

Read in English
Remedies For Dry Feet During Pregnancy

Dry Feet during Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान पैरों की खास देखभाल करें

Dry Feet during Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई बदलाव आते हैं और इस वजह से उन्हें असहजता भी महसूस होती है। पैरों में खुजली होना या फिर एड़ी का फटना प्रेग्नेंसी के दौरान एक आम समस्या होती है। प्रेग्नेंसी के दौरान आपको अपने पैरों और एड़ी की खास देखभाल करने की जरूरत होती है क्योंकि प्रेग्नेंसी के दौरान आपके पैरों और एड़ी के नेचुरल ऑयल नष्ट हो जाते हैं और एड़ी में रूखापन आ जाता है। प्रेग्नेंसी के दौरान पैरों और एड़ी में पानी की कमी हो जाती है क्योंकि बच्चे के सही विकास के लिए उसे फ्लुइंड्स की आवश्यकता होती है। ऐसे में यदि आपके पैरों को मुलायम करना है या रूखा होने से बचाना है तो आपको अपने पैरों और एड़ी का खास ध्यान रखने की जरूरत है। इसके लिए या तो आप स्पा जा सकती हैं या फिर कुछ घरेलू उपचारों की मदद लें सकती हैं। [ये भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान कुछ आदतों से रहें दूर]

Dry Feet during Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान रूखे पैरों की समस्या कैसे दूर करें:

  • मॉइश्चराइजर लगाएं
  • एंटी-बैक्टीरियल साबून का इस्तेमाल करें
  • नींबू का रस
  • विटामिन-ई युक्त खाद्य पदार्थो का सेवन करें
  • बाथ ऑयल्स शामिल करें

मॉइश्चराइजर लगाएं:

Remedies For Dry Feet During Pregnancy
Dry Feet during Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान पैरों को मॉइश्चराइज रखें

ऐसे मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करें जिनमें ऑयल कॉन्टेंट अधिक मात्रा में हों ताकि आपके पैरों को पोषण मिल सकें। इससे आपको 15 से 20 दिनों में फर्क नजर आने लगेगा। सोते वक्त पैरों में मॉइश्चराइजर जरूर लगाएं और मोजे पहनें ताकि 8-10 घंटों तक मॉइश्चर आपके पैरों में रह सके।

एंटी-बैक्टीरियल साबून का इस्तेमाल करें:
एंटी-बैक्टीरियल साबून आपके पैरों के रूखेपन को कम करने में मदद करते हैं। पैरों के डेड सेल्स को रिपेयर करते हैं जिससे पैर कोमल या मुलायम हो जाते हैं। इसके अलावा यह पैरों को नमी भी प्रदान करता है।  [ये भी पढ़ें: गर्भावस्था में गर्म पानी पीने के लाभ]

नींबू का रस:

Remedies For Dry Feet During Pregnancy
Dry Feet during Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान एड़ी में नींबू का रस लगाएं

नींबू के रस में एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो आपके पैरों को इंफेक्शन से बचाते हैं जिससे आपकी एड़ी फटने की समस्या कम हो जाती है। नींबू के रस को 10-15 मिनट तक एड़ी पर लगाकर छोड़ दें और फिर साफ कर लें। इस प्रक्रिया को सप्ताह में एक बार जरूर करें।

विटामिन-ई युक्त खाद्य पदार्थो का सेवन करें:
विटामिन-ई युक्त खाद्य पदार्थो का सेवन आपके पैरों और एड़ी के रूखेपन को कम करता है और मुलायम भी रखता है। पालक, बादाम, शकरकंद में विटामिन-ई उच्च मात्रा में होता है तो प्रेग्नेंसी के दौरान इनका सेवन करने की कोशिश करें।

बाथ ऑयल्स शामिल करें:
कई ऐसे तेल होते हैं जिनमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, इसलिए पानी में ऑलिव ऑयल या जोजोबा ऑयल के कुछ बूंद डालें और अपने पैर को उसमें कुछ देर के लिए रखें। इससे आपको जल्द ही परिणाम नजर आने लगेगा।  [ये भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान हॉट फ्लैश की परेशानी को कैसे कम करें]

प्रेग्नेंसी के दौरान पैरों और एड़ी का रूखा हो जाना एक आम समस्या होती है। लेकिन कुछ आसान घरेलू उपचारों की मदद से इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "