Reduce Belly Fat: प्रेग्नेंसी के बाद बेली फैट कैसे कम करें

Reduce Belly Fat After Pregnancy

Reduce Belly Fat: बेली फैट कम करने के लिए टिप्स

Reduce Belly Fat: प्रेग्नेंसी के बाद कई महिलाओं को कई प्रकार की समस्याएं आ जाती हैं क्योंकि शरीर में कई प्रकार के बदलाव आते हैं। प्रेग्नेंसी के बाद भी कई महिलआओं का पेट और बेली निकला लगता है। ज्यादातर महिलाएं इस समस्या से ग्रसित रहती हैं और अपने बेली फैट को कम करने के अलग-अलग प्रयास भी करती हैं। लेकिन बहुत सी महिलाएं अनेकों प्रयास करने के बावजूद असमर्थ हो जाती हैं क्योंकि उन्हें बेली फैट कम करने का सही तरीका पता नहीं होता है। बेली फैट एक्सरसाइज, योगा और लो-फैट वाले खाद्य पदार्थो का सेवन करने के बावजूद भी महिलाएं बेली फैट नहीं कम कर पाती हैं। ऐसे में उन्हें बेली फैट कम करने के सही तरीके का पता होना जरूरी होता है ताकि वो अपने शरीर को फिर से सही आकार में ला सकें। कुछ आसान टिप्स हैं जिनका नियमित रूप से पालन करने से आप बेली फैट कम कर सकती हैं। [ये भी पढ़ें: Food Hygiene Tips during Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान कौन सी फूड हाईजीन टिप्स का ध्यान रखें]

Reduce Belly Fat: प्रेग्नेंसी के बाद बेली फैट कम करने के लिए टिप्स

  • स्तनपान करवाएं
  • टहलने जाएं
  • पोषक तत्व युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन करें
  • अनुलोम-विलोम का अभ्यास करें
  • वर्कआउट करें

स्तनपान करवाएं:

Reduce belly Fat Post Pregnancy
Reduce Belly Fat: गर्भावस्था के बाद बेली फैट कम करने के लिए स्तनपान करवाएं

स्तनपान ना सिर्फ शिशु के इम्यूनिटी को बूस्ट करता है बल्कि प्रेग्नेंसी के बाद बेली फैट भी कम करने में मदद करता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि स्तनपान करवाने से गर्भाशय में सिकुड़न आती है।

टहलने जाएं:
टहलना भी एक प्रकार का एक्सरसाइज ही होता है। टहलने से शरीर और बेली पर मौजूद एक्सट्रा फैट बर्न होता है और शरीर का आकार सही हो जाता है। टहलना स्वास्थ्य को और भी कई प्रकार के लाभ प्रदान करता है।

पोषक तत्व युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन करें:
प्रेग्नेंसी के बाद महिलाओं को स्तन में दूध के उत्पादन के लिए पोषक तत्वों का सेवन करने की आवश्यकता होती है और ये पोषक तत्व बेली फैट को भी कम करने में मदद करते हैं। हरी सब्जियां, ग्रीन-टी, लीन प्रोटीन और पर्याप्त पानी का सेवन शरीर के टॉक्सिंस को फ्लश करता है।

अनुलोम-विलोम का अभ्यास करें:
अनुलोम-विलोम का नियमित रूप से अभ्यास करना लोअर और अपर एब्डोमेन को टोन करता है और बेली फैट को कम करने में मदद करता है। इसका अभ्याम गट मूवमेंट को बेहतर कर के पाचन में सुधार लाता है।

वर्कआउट करें:
कई ऐसे वर्कआउट होते हैं जिनका अभ्यास नई बनी मां भी कर सकती हैं। ये वर्कआउट शरीर के फैट को बर्न करते हैं और वजन को भी नियंत्रित करते हैं। इनका नियमित अभ्यास आपको लाभ प्रदान करेगा।  [ये भी पढ़ें: Care after delivery: डिलीवरी के बाद स्वस्थ रहने के लिए उपाय]

प्रेग्नेंसी के बाद बेली फैट कम करने के लिए आपको कुछ आसान से टिप्स का नियमित रूप से पालन करना जरूरी है।

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "