Care after delivery: डिलीवरी के बाद स्वस्थ रहने के लिए उपाय

Read in English

Care Tips: डिलीवरी के बाद शरीर को स्वस्थ बनाने के लिए कुछ टिप्स की मदद ले सकते हैं।

डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर में कई बदलाव आ जाते हैं। जिसकी वजह से उन्हें शिशु के साथ-साथ अपना भी खास ख्याल रखने की जरुरत होती है। इस दौरान उन्हें आराम की जरुरत होती है ताकि वह शारीरिक के साथ मानसिक रुप से भी स्वस्थ रह सकें। डिलीवरी के पहले और बाद में भी कई हार्मोनल बदलाव होते हैं जिसकी वजह से महिलाओं के शरीर को सामान्य होने में समय लगता है। डिलीवरी के बाद खुद को स्वस्थ रखने के लिए महलिाओं को कुछ उपायों की मदद लेनी चाहिए। जिससे उनका शरीर पहले की तरह स्वस्थ हो सके। तो आइए आपको उन उपायों के बारे में बताते हैं जिनसे डिलीवरी के बाद महिलाएं जल्दी स्वस्थ हो जाएं। [ये भी पढ़ें: डिलीवरी के बाद वजन कम करने के लिए टिप्स]

Care after delivery: डिलीवरी के बाद स्वस्थ रहने के तरीके

स्वस्थ खाएं
एक्सरसाइज करें
आराम करें
दूसरों की मदद लें
भारी सामान ना उठाएं

स्वस्थ खाएं:
घावों को भरने के लिए स्वस्थ आहार का सेवन करना जरुरी होता है। इसलिए डिलीवरी के बाद सब्जियां, फल और प्रोटीन का सेवन बढ़ा दें। इसके साथ ही तरल पदार्थों का सेवन भी ज्यादा करें, खासकर तब तब आप ब्रेस्टफीडिंग करा रही हों।

एक्सरसाइज करें: डिलीवरी के बाद आपको कब एक्सरसाइज करनी चाहिए इस बारे में अपने डॉक्टर से जरुर सलाह लें। उनके परामर्श के बाद ही एक्सरसाइज करना शुरुर करें। इस दौरान हैवी एक्सरसाइज करने से बचें। साथ ही एक्सरसाइज करने से आपका एनर्जी लेवल बढ़ता है।

आराम करें: थकावट को दूर करने के पर्याप्त आराम करना जरुरी होता है। आपका बच्चा हर 2-3 घंटे भूख लगने पर उठता है जिसकी वजह से आपकी नींद पूरी नहीं हो पाती है। इसलिए बच्चे के साथ आप अपनी नींद भी पूरी कर लेनी चाहिए।

दूसरों की मदद लें: इस समय में रिश्तेदार या दोस्तों की मदद लेने से हिचकिचाए नहीं। इस दौरान आपके शरीर को आराम की जरुरत होती है ताकि शरीर पहले जैसा हो पाए। अगर आप दूसरों की मदद लेते हैं तो इससे आप आराम कर पाएंगे।

भारी सामान ना उठाएं: डिलीवरी के बाद आपको भारी सामान नहीं उठाना चाहिए। अपने बच्चे से ज्यादा भारी कुछ चीज उठाने से बचना चाहिए। खासकर तब जब आपकी सिजेरियन डिलीवरी हुई हो।

[ये जरुर पढ़ें: डिलीवरी के बाद क्या सावधानी बरतें]

डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर कई बदलाव होते हैं। इस दौरान कुछ बातों का खास ध्यान रखना चाहिए। इस आर्टिकल को इंग्लिश(English)में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "