गर्भावस्था के दौरान पैरों और एड़ियों के सूजन को कैसे कम करें

Read in English
How to Reduce Swollen Feet and Ankles During Pregnancy

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को कई लक्षण महसूस होते हैं। बहुत सी समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है। प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवती महिला के पेट पर ही नहीं बल्कि पूरे शरीर पर थोड़ी बहुत सूजन रहती है। खासकर पैरों और एड़ियों पर। पैरों और एड़ियों में 22-27वें हफ्ते के दौरान सूजन आना शुरु हो जाती है और बच्चे के जन्म होने तक यह प्रेग्नेंट महिला के पैरों में रहती है। कई बार यह सूजन काफी बढ़ भी जाती है। तो आइए आपको बताते हैं प्रेग्नेंट महिला के पैरों और एड़ियों में सूजन आने के कारण और इसे कैसे ठीक किया जा सकता है।[ये भी पढ़ें:प्रेग्नेंसी के दौरान दिख सकते है ये अजीबो-गरीब लक्षण]

प्रेग्नेंसी के दौरान पैरों और एड़ियों में आने वाली सूजन के कारण:
why your feet and ankles swell during pregnancyप्रेग्नेंसी के दौरान जब आप पैरों और एड़ियों में सूजन महसूस करती हैं तो यह ऊतकों में ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ एकत्र हो जाने के कारण होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान सूजन होना सामान्य होता है क्योंकि इस समय आपके शरीर में पानी की मात्रा ज्यादा होती है। आपके रक्त में रसायनिक बदलाव के कारण कुछ तरल पदार्थ आपके ऊतकों में चले जाते हैं। इसके साथ ही आपके गर्भाशय में वृद्धि होने से आपकी पेल्विक नसों और शरीर के सीधे भाग की सबसे बड़ी नस पर दबाव पड़ने लगता है। यह नस आपके निचले अंगों से रक्त को वापस दिल में ले जाती है। यह प्रेशर आपके पैरों से रक्त को वापस आने की गति को धीमा कर देता है। जिससे यह एकत्र होने लग जाते हैं और आपके पैरों और एड़ियों के ऊतकों में तरल पदार्थ बढ़ जाते हैं।

प्रेग्नेंसी के दौरान पैरों और एड़ियों में आने वाली सूजन को कम करने के उपाय:
1-ज्यादा देर तक बैठे या खड़ें ना रहें:अगर आप ज्यादा देर तक खड़ी रहती हैं तो थोड़े समय बाद बैठ जाएं। इससे आपके पैरों पर ज्यादा देर तक दबाव नहीं पड़ेगा और आप हमेशा बैठी रहती हैं तो थोड़ी-थोड़ी देर बाद चलें। इससे रक्त परिसंचरण होता रहता है। जो ऊतकों में तरल पदार्थ एकत्र नहीं होने देता है।[ये भी पढ़ें: गर्भवती महिलाओं को जरूर करना चाहिए ये एक्सरसाइज]

2-एक तरफ होकर सोएं:अगर आपने अभी तक एक तरफ होकर सोना शुरु नहीं किया है तो अब शुरु कर दें। ऐसा करने से आपकी किडनी ठीक रहती है जो शरीर से अपशिष्ट पदार्थ निकालने में मदद करता है और सूजन को कम करती है।

3- एक्सरसाइज करें:इस दौरान कुछ एक्सरसाइज करना शुरु कर दें। जैसे चलना या स्वीमिंग। इससे आपके शरीर में खून का प्रवाह बना रहता है। अगर आप ऐसा करती हैं तो पानी का प्रवाह ऊतकों से तरल पदार्थों को नसों में जाने के लिए दबाव डालते हैं।

4-आरामदायक जूते पहने:खासकर जब आप बाहर हो तो आरामदायक जूते पहनने की कोशिक करें। ऐसे जूते पहने जिसे पहनकर आपको बेहतर महसूस हो और प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले पीठ और पैर का दर्द कम हो सके।

5- नमक का सेवन बंद ना करें:नमक का सेवन बहुत कम कर देने से आपके पैरों और एड़ियों की सूजन बहुत बढ़ जाती है। तो इसलिए नमक का सेवन करना बिल्कुल बंद ना करें। अपने सेवन को नियंत्रित करने के लिए और स्वाद के लिए नमक रखने के लिए सबसे अच्छा है।[ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान सुरक्षित रूप से एक्सरसाइज करने के लिए अपनाएं ये स्मार्ट तरीके]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "