Backache during pregnancy: गर्भावस्था के दौरान होने वाले कमर दर्द को दूर करने के उपाय

ways to deal with back pain during pregnancy

Backache during pregnancy: गर्भावस्था के दौरान कमर दर्द होने पर कुछ तरीकों की मदद ली जा सकती है।

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को सबसे ज्यादा परेशानी कमर दर्द की वजह से होती है। बच्चे के विकास की वजह से महिलाओं को कमर में दर्द होने की समस्या हो जाती है। इसके साथ ही प्रेग्नेंसी के दौरान हार्मोन्स रिलीज होने की वजह से पेल्विक एरिया मुलायम हो जाता है साथ ही जोड़ भी ढीले होने लगते हैं। यह जोड़ आपकी कमर को सपोर्ट करते हैं। मगर जोड़ों के ढीले हो जाने की वजह से कमर में दर्द होना शुरु हो जाता है। इसके साथ ही बच्चे के विकास की वजह से पोस्चर में बदलाव, शरीर के बढ़ते वजन की वजह से कमर में दर्द की समस्या होने लगती है। कमर के दर्द को दूर करने के लिए कुछ उपायों की मदद ली जा सकती है। इन्हें रोजाना करके आप प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले कमर दर्द से राहत पा सकती हैं। तो आइए आपको इन तरीकों के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: Reduce Belly Fat: प्रेग्नेंसी के बाद बेली फैट कैसे कम करें]

Backache during pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान कमर दर्द कैसे दूर करें

एक्सरसाइज
पॉस्चर
एक्यूपंचर
गर्म तौलिया कमर पर रखें
आइस पैक

एक्सरसाइज:

Exercise during pregnancy for backache
Exercise for back pain: प्रेग्नेंसी के दौरान कमर दर्द होने पर एक्सरसाइज करें।

प्रेग्नेंसी के दौरान कमर दर्द दूर करने का आसान तरीका एक्सरसाइज करना है। रोजाना एक्सरसाइज करने से मांसपेशियों को मजबूती मिलती है जो कमर दर्द को दूर करने में मदद करती है। गर्भावस्था के दौरान टहलना एक अच्छी एक्सरसाइज है। इसके अलावा कोई एक्सरसाइज करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरुर ले लें।

पॉस्चर: कमर दर्द को दूर करने के लिए सही पॉस्चर में बैठना बेहद जरुरी होता है। इस दौरान बैठते समय अच्छी कुर्सी का इस्तेमाल करना चाहिए साथ ही कमर के सपोर्ट के लिए तकिये का इस्तेमाल करें। पैरों को क्रॉस करके बैठने की बजाय पैरों को किसी चीज पर रखएं ताकि पैर लटके ना रहें। कमर दर्द को दूर करने के लिए हमेशा सीधे खड़े होकर चलें और कंधों को झुकाए नहीं।

एक्यूपंचर:

Acupuncture for backache during pregnancy
Acupuncture for backache: कमर दर्द को दूर करने के लिए एक्यूपंचर की मदद लें।

एक्यूपंचर एक चीनी तकनीक है जिसमें त्वचा पर सुईयां लगाकर इलाज किया जाता है। कमर दर्द से आराम पाने के लिए भी एक्यूपंचर की मदद ली जा सकती है। एक स्टडी के मुताबिक एक्यूपंचर बैक और पेल्विक पेन को कम करने में मदद करता है। जब भी एक्यूपंचर कराएं किसी एक्पर्ट की सलाह जरुर ले लें।

गर्म तौलिया कमर पर रखें:
गर्म तौलिया कमर पर रखने से दर्द दूर करने में मदद मिलती है। हीट कमर की मांसपेशियों में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर सूजन कम करने में मदद करता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए तौलिये को गर्म पानी में भिगोकर अच्छी तरह निचोड़ लें। अब इसे 10 मिनट तक कमर पर रखें। ऐसा दिन में 2-3 बार करें।

आइस पैक:
आइस पैक बर्फ से बनाया जाता है, जिससे प्रेग्नेंसी के दौरान कमर दर्द कम करने में मदद मिलती है। यह सूजन को कम करके दर्द से राहत दिलाता है। इसके लिए एक प्लास्टिक के बैग में बर्फ को क्रश करके डालें और इसे तौलिये में लपेट लें। इस कंप्रेसर को 5-10 मिनट तक कमर पर रखें। इस तरह से दिन में 2-3 बार कर सकते हैं।

[जरुर पढ़ें: Insomnia During Pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान नींद ना आने के कारण]

प्रेग्नेंसी के दौरान हर महिला को कमर में दर्द की समस्या होती ही है जिसे कुछ घरेलू उपायों की मदद ली जा सकती है।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "