ब्रेस्टफीडिंग के दौरान हल्दी के स्वास्थ्य लाभ

Health Benefits Of Turmeric While Breastfeeding

ब्रेस्टफीडिंग के दौरान महिलाओं को बहुत सी बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है क्योंकि वो जो भी करती हैं उसका सीधा प्रभाव उनके बच्चे पर पड़ता है। ऐसे में सबसे ज्यादा उन्हें अपने खाद्य पदार्थों पर ध्यान रखने की जरूरत होती है। अगर महिलाएं पोषक तत्वों का सेवन करेंगी तो उनके बच्चे को उनके दूध के जरिए पोषण मिलता है और वो स्वस्थ रहते हैं। लेकिन अगर वो अस्वस्थ या जंक फूड्स का सेवन करेंगी तो उसका सीधा प्रभाव उनके बच्चे पर पड़ेगा। हो सकता है कि इसकी वजह से उन्हें मानसिक या शारीरिक समस्या भी हो सकती है। हल्दी का सेवन स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के लिए लाभकारी होता है क्योंकि इनमें पाए जाने वाले पोषक तत्व स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। आइए ब्रेस्टफीडिंग के दौरान हल्दी के स्वास्थ्य लाभों के बारे में जानते हैं। [ये भी पढ़ें: स्तनपान कराने से मां का स्वास्थ्य कैसे बेहतर होता है]

इम्यूनिटी बूस्ट करता है:
हल्दी में लिपोपोलाईसैचेराइड होता है जो शरीर में इम्यूनिटी को बूस्ट करने में मदद करता है। इसके अलावा इसमें एंटीफंगल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं जो स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को सर्दी-जुकाम और बुखार की समस्या से दूर रखने में मदद करता है।

पेट से जुड़ी समस्या से बचाता है:
हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं जो पेट में होने वाले बैक्टीरिया और कीटाणु को नष्ट करने में मदद करते हैं और पेट से जुड़ी समस्या जैसे कब्ज, दस्त और एसिडिटी से दूर रखते हैं। इसके अलावा स्तनपान करवाने वाली महिलाओं में होने वाली ब्लोटिंग से भी बचाते हैं। [ये भी पढ़ें: मोटापा गर्भावस्था को कैसे प्रभावित करता है]

लिवर की समस्या से बचाता है:
हल्दी एक नेचुरल लिवर डिटॉक्सीफाई की तरह काम करता है। हल्दी महत्वपूर्ण एंजाइम्स के उत्पादन को बढ़ाता है। यह एंजाइम्स आपके लिवर के खून को डिटॉक्सीफाई करता है। हल्दी स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के रक्त संचार में सुधार लाता है और उनके स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है।

ओस्टिओअर्थराइटिस से बचाता है:
हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होता है जो ओस्टिओअर्थराइटिस के कारण होने वाले दर्द और सूजन से राहत दिलाता है। इसके अलावा ये फ्री-रेडिकल्स को भी न्यूट्रिलाइज करता है जो दर्द से राहत दिलाता है। [ये भी पढ़ें: डिलीवरी के बाद क्या सावधानी बरतें]

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "