प्रेग्नेंसी के दौरान पेट दर्द होने के पीछे क्या कारण होते हैं

causes of stomach pain during pregnancy

photo credit: momtricks.com

प्रेग्नेंसी के दौरान पेट में खिंचाव, दर्द जलन होना व्यक्ति को परेशान कर देता है कि बच्चे को कोई समस्या तो नहीं हो रही है। लेकिन पेट में दर्द होने को लेकर परेशान होने की जरुरत नहीं है। शिशु के विकास के दौरान असहज महसूस करने की वजह से पेट में दर्द होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान कभी-कभी पेट में दर्द या खिंचाव होना हानिकारक नहीं होता है। यह प्रेग्नेंसी की पहली तिमाही के दौरान कब्ज या रक्त प्रवाह बढ़ने की वजह से भी हो सकता है। तो आइए आपको कुछ कारणों के बारे में बताते हैं जिनकी वजह से प्रेग्नेंसी के दौरान पेट में दर्द होता है। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान घर के कुछ कामों से करें परहेज]

राउंड लिंगमेंट पेन: दूसरी तिमाही के दौरान यूट्रस बढ़ने की वजह से राउंड लिंगमेंट( लिंगमेंट जो गर्भाशय के आगे से जाती है) स्ट्रेच होने लगती है जिसकी वजह से खिंचाव होते हैं। यह दर्द आपकी पोजशन बदलने के साथ बढ़ भी सकता है और घट भी सकता है। यह लक्षण कुछ समय में दूर हो जाते हैं। लेकिन अगप आप यह दर्द सहन नहीं कर पाते हैं तो डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

गैस और कब्ज: प्रेग्नेंसी के दौरान गैस और कब्ज की समस्या प्रोजेस्टेरोन का लेवल बढ़ने की वजह से होती है। प्रोजेस्टेरोन का लेवल बढ़ने से गैस्ट्रोइन्टेस्टाइनल ट्रैक्ट धीमा हो जाता है जिसकी वजह से खाना धीमी गति से जाता है। इसका परिणाम यह होता है कि कब्ज और गैस की समस्या होने लगती है। ज्यादा पानी पीने, उच्च मात्रा में फाइबर वाले भोजन का सेवन करने से इस समस्या से राहत पाई जा सकती है। [ये भी पढ़ें: रात को स्तनपान कराते वक्त इन टिप्स का रखें ख्याल]

गर्भाशय बढ़ने के कारण: जब गर्भाशय बढ़ता है तो उससे बॉउल स्थानान्तरित हो जाता है इसकी वजह से जी मिचलाना जैसी समस्या होने लगती है। इस दर्द को दूर करने के लिए थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ ना कुछ खाते रहना चाहिए, एक्सरसाइज करनी चाहिए। इससे असहजता महसूस होना कम हो जाता है।

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन: प्रेग्नेंसी के दौरान यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन से पेट में काफी दर्द होता है साथ ही पेशाब करते समय जलन होती है। इसके साथ ही कमर में दर्द और पेशाब करते समय खून लाने लगता है। अगर इसपर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाए तो किडनी में इंफेक्शन हो सकता है। [ये भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान सुरक्षित रहने के लिए इन कामों से करें परहेज]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "