वर्ल्ड हेल्थ डे 2018: शिशु के स्वास्थ्य को बनाएं रखने के लिए गर्भवती महिला क्या करें

Read in English
Avoid these Mistakes to Save Your Child's Health during Pregnancy

प्रेग्नेंसी के नौ महीने महिलाओं के लिए काफी ध्यान रखने वाले होते हैं। इस दौरान सभी आपका ध्यान रखते हैं ताकि आपके साथ बच्चे का भी स्वास्थ्य ठीक रहे। आपके बच्चे को आपके माध्यम से पोषक तत्व मिलते हैं। आप जो भी खाते, पीते हैं वह आपके बच्चे को प्रभावित करता है। आपकी रोजाना की आदतें आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर असर डालती हैं। बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए मां को कई चीजों को करना शुरु करना चाहिए तो कुछ आदतों को छोड़ना भी जरुरी होता है। तो आइए आपको बताते हैं बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए गर्भवती महिला को क्या करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: सवाल जो अक्सर गर्भवती महिलाओं के मन में होते हैं]

एल्कोहल का सेवन ना करें: जब आपको पता चले कि आप प्रेग्नेंट हैं उसके तुरंत बाद ही एल्कोहल का सेवन करना बंद कर देना चाहिए। एल्कोहल का सेवन करने से यह बच्चे तक ऑक्सीजन और पोषक तत्व पहुंचने में बाधा उत्पन्न करता है। क्योंकि आपका बच्चा आप पर निर्भर करता है। अगर इसका सेवन बंद ना किया जाए तो बच्चे के जीवन को खतरा हो सकता है। बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए एल्कोहल का सेवन बंद कर देना चाहिए।

सही तरीके से सीट बेल्ट बांधें: जब भी आप यात्रा कर रही हो तो नीचे की तरफ सीट बेल्ट बांधे। इस दौरान फास्ट भी ना रखें और अगर आप यात्रा करती हैं तो सीट बेल्ट को टाइट ना बंधें इससे अचानक ब्रेक लगाने पर वह पेट पर टाइट हो सकती है। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान यौन संबंध बनाते समय ब्लीडिंग क्यों होती है]

बायी तरफ होकर सोएं: प्रेग्नेंसी के दौरान बायी तरफ होकर सोना बेहतर होता है। बायी तरफ सोने से बच्चे के पास रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है साथ ही पोषक तत्व भी मिलते रहते हैं और बच्चा स्वस्थ रहता है।

कैफीन युक्त प्रोडक्ट का सेवन ना करें: सोडा,कॉफी जैसे कैफीनयुक्त पदार्थों का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। कैफीनयुक्त प्रोडक्ट का सेवन सीमित करना बेहतर होता है। इनका सेवन बढ़ा देने से गर्भपात और प्रिमिच्यौर बर्थ का कारण बन सकता है। इसलिए बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य के लिए कैफीनयुक्त प्रोडक्ट का सेवन ना करें।

सही पोस्चर में बैठें: प्रेग्नेंसी के दौरान सही पोस्चर में बैठने से दर्द और तनाव कम होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान कमर और पेट में दर्द होता है। इसलिए इस दौरान लेग क्रॉस करके नहीं बैठना चाहिए इससे ब्लड सर्कुलेशन कम होता है और पैरों में सूजन भी आ सकती है। [ये भी पढ़ें: गर्भवती महिलाओं को हॉट वॉटर बाथ क्यों नहीं लेनी चाहिए]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "