गर्भावस्था के दौरान टहलने से महिलाओं को मिलते हैं ये स्वास्थ्य लाभ

amazing health benefits of walking during pregnancy

Photo Credit: static01.nyt.com

गर्भावस्था के दौरान महिलाएं कई शारीरिक और मानसिक परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है। जैसा कि हमें पता है टहलने के कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं और गर्भवति महिलाओं के लिए तो ये खास तौर पर प्रभावी होते हैं। गर्भावस्था को दौरान टहलना महिलाओं में होने वाली कई स्वास्थ्य समस्या को कम कर देता है और साथ ही लेबर पेन से लड़ने में भी मदद करता है। प्रेग्नेंसी के दौरान टहलने से शरीर में ऊर्जा बना रहता है और साथ ही एक्टिव भी रखता है। आइए जानते हैं गर्भावस्था को दौरान टहलने से महिलाओं को कैसे स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। [ये भी पढ़ें: गर्भावस्था ना केवल आपको प्यारा अनुभव देती है बल्कि इसके और भी लाभ हैं]

हेल्दी बेबी: टहलने से गर्भवती महिला का शरीर स्वस्थ रहता है और अगर मां का शरीर स्वस्थ रहेगा तो बच्चा भी हेल्दी रहेगा। इसके अलावा टहलने से बच्चे का वजन भी सामान्य रहता है। टहलने से शरीर में ब्लड का स्त्राव सही रहता है जो बच्चे के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है।

जेस्टेशनल डायबिटीज के खतरे को कम करता है: गर्भावस्था के दौरान हाई बल्ड प्रेशर होने के कारण टाइप 2 डायबिटीज हो जाता है, जिसकी वजह से समय से पहले लेबर का खतरा हो जाता है और बच्चा भी मोटापे का शिकार हो जाता है। लेकिन जो महिला नियमित रूप से एक्सरसाइज करती हैं या टहलती हैं उनका ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है जो जेस्टेशनल डायबिटीज के खतरे को कम करता है। [ये भी पढ़ें: हर गर्भवती महिला को करनी चाहिए सांसों से जुड़े ये एक्सरसाइज]

प्री-एक्लम्पसिया के जोखिम को कम करता है: प्री-एक्लम्पसिया गर्भावस्था का एक लक्षण है जो हाई ब्लड प्रेशर और यूरिन में प्रोटीन के बढ़ने का संकेत देता है। टहलना वजन को बनाए रखने और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। इस प्रकार गर्भावस्था के दौरान ब्लड प्रेशर का स्तर को संतुलित रहता है। इस तरह टहलना प्री-एक्लम्पसिया के कारण होने वाले प्रीमैच्योर लेबर के खतरे को कम करता है।

स्ट्रेस बूस्टर: तनाव गर्भवती महिलाओं में एक आम लक्षण होता है। लेकिन ऐसा शरीर में होने वाले कुछ हार्मोंस की वजह से होता है। टहलने से एंडोर्फिन नामक हार्मोन रिलीज होता है, जो अच्छा महसूस कराने वाला एक केमिकल है। इसलिए टहलना तनाव-बूस्टर की तरह काम करता है और आपके मूड को बूस्ट करता है और साथ ही तनाव को भी कम करने में मदद करता है। [ये भी पढ़ें: किन प्रमुख कारणों से हो सकता है गर्भपात]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "