गर्भावस्था के दौरान डांस करने से होते हैं यह आश्चर्यजनक लाभ

amazing benefits of dance during pregnancy

प्रेग्नेंसी के दौरान डांस को एक्सरसाइज के रूप में किया जा सकता है। इसे करने से आपका शरीर लचीला बनता है और तनाव दूर होता है। आजकल डॉक्टर भी प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज की सलाह देते हैं। एक्सरसाइज आपके शरीर को डिलिवरी के लिए तैयार करता है। अगर प्रेग्नेंसी के दौरान आपको डांस करते वक्त कोई परेशानी हो तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के बाद पेट कम करने के लिए करें ये एक्सरसाइज]

प्रेग्नेंसी के दौरान डांस करने के फायदे:
प्रेग्नेंसी के दौरान डांस करने से आपका तनाव कम होता है। हालांकि आप इस दौरान डांस के दौरान आपको कुछ बातों का ध्यान भी रखना पड़ता है जैसे- उछलने वाला डांस से बचना चाहिए। प्रेग्नेंसी के दौरान आप सांबा, जैज और बॉलरुम जैसे डांस कर सकती हैं लेकिन बिना लिफ्ट किये। प्रेग्नेंसी के दौरान अपना फिटनेस लेवल ठीक रखने के लिए कुछ तरीके हैं।

1- प्रेग्नेंसी के दौरान आपका लक्ष्य होता है कि आपका शरीर लचीला बने। यह प्रेग्नेंसी के दौरान डांस करने से हो सकता है।
2-जब आपका बच्चा आने वाला होता है तो डांस फिटनेस के लेवल को बनाए रखने में आपकी मदद करता है।
3- अगर आप बहुत समय से अपनी मांसपेशियों को सही शेप में लाना चाहती हैं तो प्रेग्नेंसी के दौरान डांस करने से आप अपनी इस इच्छा को पूरा कर सकती हैं। बैले डांस आपकी मांसपेशियों को शेप में लाने में मदद करता है।
4-अगर आपको जिम जाना पसंद नहीं तो फिट रहने के लिए डांस करना सबसे अच्छा विकल्प होता है।
5-डांस रक्त परिसंचरण में मदद करता है और गर्भावस्था के दौरान आपके हृदय और फेफड़ों को स्वस्थ रखने में काम करता है।
6-प्रेग्नेंसी के दौरान एरोबिक्स करने से गर्भावधि मधुमेह की गंभीरता को रोकने और कम करने में मदद मिलती है।
7-डांस करने से डिलिवरी के समय और लेबर के दौरान मेडिकल इंटरवेंशन की आवश्यकता कम हो जाती है।
8-प्रेग्नेंसी के दौरान डांस करने से उच्च रक्तचाप संबंधी विकारों का खतरा कम होता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान डांस करते समय सावधानियों को बरतना चाहिए:

1-प्रेग्नेंसी के पहली तिमाही के दौरान आप सुनिश्चित करें कि आप डांस करने से पहले वार्मअप करें।
2- वार्मअप करने से आपके ज्वाइंटस, मांसपेशियों को ज्यादा दबाव से आपको डांस करते समय किसी भी तरह की चोट नहीं लगेगी। वार्मअप ना करने से आपके चोट लगने की संभावना बढ़ जाती है और आपके हृदय की रेट भी बढ़ जाती है जो प्रेग्नेंसी के दौरान ठीक नहीं होता है।
3-अपने डांस में एक स्टेप सुनिश्चित करें कि आपके पैर फर्श पर ही रहें।
4- अगर आपका शरीर डांस करते समय असहज महसूस कर रहा है तो उसी समय डांस करना बंद कर दें।
5- दूसरे और तीसरे तिमाही के दौरान अपना संतुलन बनाए रखने के लिए ज्यादा ध्यान दें क्योंकि उस समय आपका पेट बढ़ रहा होता है।[ये भी पढ़ें: गर्भवती महिलाओं को जरूर करना चाहिए ये एक्सरसाइज]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "