गर्भावस्था में पनीर का सेवन होता है फायदेमंद

Why Every Pregnant Women Should Eat Paneer

पनीर का सेवन स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी होता है। पनीर दूध से बनता है और यह कैल्शियम, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट आदि मिनरल्स से भरपूर होता है। गर्भावस्था के दौरान पनीर का सेवन महिलाओं के लिए लाभकारी होता है। अक्सर लोगों का यह मानना होता है कि गर्भावस्था के दौरान पनीर और उससे बने खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन उपयोगी नहीं होता है। हालांकि अगर आप लैक्टोज इंटोलरेंस से पीड़ित नहीं है तो आपके लिए दूध और उससे बने खाद्य पदार्थों का सेवन लाभकारी होता है। आइए जानते हैं कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पनीर क्यों खाना चाहिए। [ये भी पढ़ें: गर्भवती महिलाओं को क्यों करना चाहिए आंवला का सेवन]

1.ऊर्जा का स्रोत होता है- पनीर महिलाओं को पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा और स्टेमिना देता है। गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में अधिकतर महिलाओं को थकान, बैचेनी और कमजोरी जैसी परीस्थितियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में पनीर खाने से शरीर को आवश्यक ऊर्जा मिलती है।

2. बच्चे की हड्डियों के निर्माण में सहायक- पनीर में कैल्शियम और फास्फोरस होता है जो कि महिला के गर्भ में पल रहे बच्चे की हड्डियों के निर्माण में सहायक होता है। साथ ही इससे गर्भवती महिलाओं की हड्डियां भी मिनरल्स की कमी के कारण कमजोर नहीं होती हैं। इसलिए गर्भावस्था के दौरान पनीर का सेवन लाभकारी होता है। [ये भी पढ़ें: गर्भवती महिलाओं को पालक का सेवन क्यों करना चाहिए]

3.बर्थ डिफेक्ट के खतरे को कम करता है- गर्भावस्था में पनीर खाने से महिला के शरीर में ओमेगा-3 फैटी एसिड की कमी नहीं होती है। ओमेगा-3 फैटी एसिड लेबर पेन को कम करने में और सुरक्षित प्रजनन में मदद करता है। इसलिए गर्भावस्था में पनीर खाना लाभकारी होता है।

4. एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुणों से भरपूर होता है- पनीर में पर्याप्त मात्रा में एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं। पनीर का सेवन करने से दर्द, सूजन और संक्रमण जैसी समस्याएं कम होती हैं इसलिए गर्भावस्था के दौरान पनीर का सेवन करना लाभकारी होता है।

5. वजन नियंत्रित रखने में मदद करता है-गर्भावस्था के दौरान बार-बार भूख लगती है जिससे वजन बढ़ने का खतरा रहता है। पनीर का सेवन करने से पेट भरा रहता है और बार-बार भूख नहीं लगती है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान पनीर का सेवन करने से आपका वजन ज्यादा नहीं बढ़ता और शरीर स्वस्थ रहता है। [ये भी पढ़ें: गर्भवती महिलाओं के लिए किशमिश का सेवन क्यों लाभकारी होता है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "