गर्भावस्था के दौरान चाय पीते हुए किन बातों का ख्याल रखें

Drinking-Tea-During-Pregnancy

गर्भावस्था के दौरान आपको काफी चीजों का ख्याल रखना पड़ता है। बहुत सारी महिलाएं इस दौरान चाय पीना ज्यादा पसंद करती हैं। चाय में बहुत सारे एंटी-ऑक्सीडेंट्स, पॉलीफैनल होते हैं जो कि इम्यून सिस्टम को बूस्ट करते हैं और मेटाबॉलिक रेट को बढ़ा देते हैं। लेकिन क्या गर्भावस्था के दौरान चाय पीना सुरक्षित होता है? गर्भवती महिलाओं के मन में अक्सर यह सवाल होता है कि गर्भावस्था के दौरान वे चाय पी सकती हैं या नहीं? आइए जानते हैं कि गर्भावस्था के दौरान चाय पीने से जुड़ी कुछ बातें। [ये भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान कौन से शाकाहारी खाद्य पदार्थों का सेवन करें]

गर्भावस्था में चाय पी सकते हैं?- गर्भावस्था में आप एक निश्चित मात्रा में चाय का सेवन कर सकती हैं। चाय में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स मॉर्निंग सिकनेस को कम करने के लिए फायदेमंद होते हैं। इस समय हर तरह की चाय एक निश्चित मात्रा में पीना लाभकारी होता है।

हर्बल टी पीने के लाभ- हर्बल चाय पीना शरीर के लिए लाभकारी होता है यह आपको और शिशु को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व देता है। हर्बल टी में विटामिन A, C, K, पोटेशियम, आयरन जैसे पोषक तत्व होते हैं साथ ही इसमें कैफीन भी नहीं होता है। इसलिए आप हेल्दी हर्ब्स युक्त चाय का निश्चित मात्रा में सेवन कर सकती हैं। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान इमली का सेवन क्यों फायदेमंद होता है]

कौन सी चाय नहीं पीनी चाहिए- कुछ चाय का सेवन गर्भावस्था में लाभकारी नहीं होता है। कोहोश, ब्लू कोहोश, डोंग क्वाई जैसे हर्ब्स का सेवन गर्भावस्था में हानिकारक होता है इसलिए गर्भावस्था के दौरान ऐसी चाय ना पिएं। इन चाय में कुछ इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं जिनमें क्लोरीन, सोडियम आदि होते हैं जो नेचुरल हार्मोनल बैलेंस को प्रभावित करते हैं। इसलिए डायरिया और डिहाइड्रेशन से बचने के लिए आपको यह चाय नहीं पीना चाहिए।

चाय पीने के लिए आवश्यक टिप्स-

  • जब भी आपको मॉर्निंग सिकनेस महसूस होती है तो एक कप अदरक की चाय पी सकते हैं जिससे आपको ऊर्जा मिलती है।
  • ग्रीन टी, ब्लैक टी, पुदीने और अदरक की चाय आप दिन में 1-2 कप पी सकती हैं लेकिन ऐसा करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श जरुर कर लें।
  • चाय का एक निश्चित मात्रा से ज्यादा सेवन ना करें क्योंकि इसके साइड-इफेक्टस भी हो सकते हैं। [ये भी पढ़ें: गर्भवती महिलाओं को पालक का सेवन क्यों करना चाहिए]
उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "