प्रेग्नेंसी के दौरान क्यों और कितनी मात्रा में जरुरी होता है आयरन

how much and why iron is important during pregnancy

प्रेग्नेंसी के दौरान आयरन से भरपूर भोजन का सेवन करना अच्छा होता है मगर क्या आपको पता है यह खनिज इतना अच्छा क्यों माना जाता है या आप यह कैसे सुनिश्चित कर सकते हैं कि आप पर्याप्त मात्रा में आयरन का सेवन कर रही हैं? तो आइए हम आपको बताते हैं क्यों और कैसे आप और आपके बच्चे के विकास के लिए आयरन का सेवन कर सकती हैं। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान जरुर करें इन फॉलेट फूड्स का सेवन]

आपको आयरन की आवश्यकता क्यों होती है:
सबसे पहले आपको बताते हैं आपका शरीर आयरन का इस्तेमाल हीमोग्लोबिन बनाने के लिए करता है। हीमोग्लोबिन लाल रक्त कोशिकाओं में पाए जाने वाला वह पदार्थ है जो आपके शरीर में ऑक्सीजन का स्थानांतरण करता है। प्रेग्नेंसी के दौरान आपका शरीर आपके बच्चे को ऑक्सीजन और रक्त प्रदान करता है। जिसके कारण आपके शरीर में आयरन की ज्यादा जरुरत होती है, ताकि आपके शरीर में रक्त की आपूर्ति को बढ़ाया जा सके। प्रेग्नेंसी के दौरान आपको एक दिन में 27 मिलीग्राम आयरन हर रोज लेना चाहिए। जो एक साधारण महिला को लेने की तुलना में दोगुना होता है।

जो महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान आयरन का सेवन नहीं करती हैं उन्हें आयरन की कमी से होने वाले रोग एनीमिया होने की संभावना बढ़ जाती हैं। आयरन की कमी के कारण होने वाले रोग एनीमिया का सबसे ज्यादा खतरा प्रीमैच्यौर डिलिवरी, बच्चे के वजन में कमी जैसी चीजे होने का रहता है। अगर आप आयरन की कमी को सही कर लेते हैं तो इस बीमारी से बचा जा सकता है। आयरन की कमी के कारण आपको थकावट, सिरदर्द और चक्कर आना जैसी परेशानी हो सकती हैं। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान प्रोटीन की कमी को पूरा करने के लिए करें इन पदार्थों का सेवन]

आयरन को अपने आहार में शामिल करें:
आयरन के सप्लीमेंट लेना और आपको आयरन को अपने भोजन में शामिल करना दोनों में अंतर होता है। आयरन से परिपूर्ण भोजन में आयरन की मात्रा समान हो ऐसा जरुरी नहीं होता है। आयरन भी दो तरह के होते हैं। हेम और नॉनहेम। नॉनहेम आयरन ज्यादातर सब्जियों, अंडे, साबुत अनाज ड्राई फ्रूट में होता है। हेम आयरन हमें जानवरों के स्त्रोतो से मिलता है। जैसे- रेड मीट, फिश। हमारा शरीर हेम आयरन अच्छी तरह अवशोषित करता है तो प्रेग्नेंसी के दौरान उसी भोजन का सेवन करें जो आपके शरीर में आयरन की मात्रा को सही रखें।

जब आप किसी चीज के साथ आयरन का सेवन करते हैं तो इससे पता चलता है कि आपका शरीर कितने खनिज का सेवन कर सकता है। चाहे वो आयरन सप्लीमेंट हो या आयरन से भरपूर भोजन हो। इसे कैल्शियम के पदार्थों के साथ सेवन करने से शरीर के अवशोषण करने की क्षमता कम हो जाती है। तो इसलिए इसे लेने से पहले ध्यान रखें कि आप आयरन के साथ किस चीज का सेवन कर रही हैं। आयरन को किसी एसिड जैसे संतरे के जूस के साथ लेने से शरीर की अवशोषित करने की क्षामता बढ़ती है।

आयरन का लेवल बच्चे के जन्म के बाद:
how much and why iron is important during pregnancyअगर प्रेग्नेंसी के दौरान आपको आयरन की कमी हो जाती है तो परेशान होने की जरुरत नहीं है बच्चे के जन्म के बाद यह ठीक हो जाती है। डिलिवरी के 6 हफ्ते बाद बहुत सी महिलाओं में आयरन का लेवल सामान्य हो जाता है। [ये भी पढ़ें: गर्भावस्था में अरारोट के सेवन से होने वाले स्वास्थ्य लाभ]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "