Beetroot during pregnancy: प्रेग्नेंसी के दौरान चुकंदर का सेवन कैसे फायदेमंद होता है

Beetroot: गर्भावस्था के दौरान चुकंदर का सेवन फायदेमंद होता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान क्रेविंग होना सामान्य होता है। अगर आपको हमेशा कुछ मीठा खाने का मन होता है तो इस दौरान मीठे की क्रेविंग को संतुष्ट करने के लिए आप फलों का सेवन कर सकती हैं। इससे आपको पोषक तत्व भी मिल जाते हैं और आप मीठा भी खा लेती हैं। इस दौरान आप चुकंदर का सेवन कर सकती हैं। चुकंदर का इस्तेमाल मिठाई, शेक आदि चीजें बनाने में किया जाता है जिसे गर्भवती महिलाएं अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं। चुकंदर का सेवन मां के साथ होने वाले बच्चे के लिए भी फायदेमंद होता है। यह कई स्वास्थ्य समस्याओं से दोनों को बचाने में मदद करता है। तो आइए आपको बताते हैं कि चुकंदर का सेवन प्रेग्नेंसी के दौरान कैसे फायदेमंद होता है। [ये भी पढ़ें: Diet for Vegetarian Mother: शाकाहारी माताओं को कौन से खाद्य पदार्थो का सेवन करना चाहिए]

Beetroot during pregnancy:प्रेग्नेंसी के दौरान चुकंदर खाने के फायदे

जन्मदोष के खतरे को कम करता है
इम्यूनिटी बूस्ट करता है
मेटाबॉल्जिम को नियमित करना
जोड़ों मे दर्द और सूजन से रोकथाम
एनीमिया से रोकथाम

जन्मदोष के खतरे को कम करता है: चुकंदर में उच्च मात्रा में फोलिक एसिड होता है जो टिशू की ग्रोथ के साथ भ्रूण के मेरुदण्ड के विकास में मदद करते हैं। चुकंदर के टुकड़े या उसके जूस का सेवन जन्मदोष के संभावना को कम कर देता है।

इम्यूनिटी बूस्ट करता है: गर्भवती महिलाओं की इम्यूनिटी बूस्ट होना बेहद जरुरी होता है क्योंकि वह बहुत जल्दी इंफेक्शन से ग्रसित हो सकती हैं। चुकंदर में उच्च मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो इम्यूनिटी को बूस्ट करते हैं।

मेटाबॉल्जिम को नियमित करना: चुकंदर पोटेशियम का स्त्रोत होता है। यह गर्भावस्था के दौरान इलेक्ट्रोलाइट को संतुलित करके मेटाबॉल्जिम को बूस्ट करने में मदद करता है। इसके साथ ही यह गर्भवती महिला का ब्लड प्रेशर लेवल को नियमित बनाए रखने में मदद करता है।

जोड़ों मे दर्द और सूजन से रोकथाम: चुकंदर में बीटालेन होता है जो एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट की तरह काम करता है। जिसकी वजह से प्रेग्नेंसी के दौरान चुकंदर का सेवन करने से जोड़ों में दर्द और सूजन दूर करने में मदद मिलती है।

एनीमिया से रोकथाम: चुकंदर में पर्याप्त मात्रा में आयरन होता है जो रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने में मदद करता है। जब आप गर्भावस्था के दौरान चुकंदर का सेवन करती हैं तो एनीमिया होने की संभावना कम हो जाती है।

[जरुर पढ़ें: Fruits for Pregnant women: गर्भवती महिलाओं को कौन से कैल्शियम युक्त फलों का सेवन करना चाहिए]

चुकंदर में कई पोषक तत्व होते हैं जिसकी वजह से गर्भावस्था के दौरान इसका सेवन फायदेमंद होता है।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "