ब्रेस्टफीडिंग कराने के दौरान करना चाहिए खास फलों का सेवन

Read in English
Fruits you must eat while breastfeeding

नवजात शिशु को ब्रेस्टफीडिंग की मदद से ही पोषक तत्व दिए जाते हैं। बच्चे को पोषक तत्व प्रदान कराने के लिए मां को भी अपनी डाइट में सुधार करना चाहिए। अगर मां पोषक तत्वों का सेवन करती है तो उसका प्रभाव आपके बच्चे पर पड़ता है। ब्रेस्टफीडिंग के दौरान आपको क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए इस बात के बारे में ध्यान रखना चाहिए। इस दौरान आपको कुछ फलों का सेवन करना चाहिए जो आपके साथ बच्चे के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होते हैं। तो आइए आपको इन फलों के बारे में बताते हैं। जिनका सेवन महिलाओं को ब्रेस्टफीडिंग के दौरान करना चाहिए। [ ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान पानी का सेवन करना कितना उचित है]

कच्चा पपीता: हरा पपीता आधे कच्चे पपीते को कहते हैं। जिसका ब्रेस्टफीडिंग के दौरान सेवन करना आवश्यक होा है। कच्चे पपीते में गैलेक्टोगॉग होता है जो लैक्टेशन में मदद करता है। इसके साथ ही यह दूध के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा पपीते में विटामिन ए, बी, सी और डी भी होता है।

स्ट्राबेरी:
स्ट्राबेरी आपको हाइड्रेट रखने में मदद करता है। साथ ही इससे बच्चे को कई पोषक तत्व होते हैं। स्ट्राबेरी में विटामिन सी, आयरन, कैल्शियम और मैग्नीशियम होते हैं। जो ब्रेस्टफीडिंग के दौरान सेवन करना फायदेमंद होता है। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान चावल खाने के फायदे]

केला:
केले में उच्च मात्रा में पोटेशियम और फॉलिक एसिड होते है। जो शरीर में इलेक्ट्रोलाइट और द्रव का संतुलन बनाने में मदद करते हैं। यह आपकी बॉडी को शेप में लाने में भी मदद करता है।

एवोकाडो: एवोकाडो में ओमेगा 3 फैटी एसिड, ओमेगा 6 फैटी एसिड और ओमेगा 9 फैटी एसिड जैसे अमीनो एसिड होते हैं। जो दूध का उत्पाद बढ़ाने में मदद करते हैं।

संतरा: ब्रेस्टफीडिंग के दौरान संतरे का सेवन फायदेमंद होता है। यह टिशू को रिपेयर करने में मदद करता है। इसके साथ ही संतरे में विटामिन सी होता है जो हड्डियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

ब्लूबेरी:
Fruits you must eat while breastfeedingब्लूबेरी में उच्च मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो नवजात शिशु के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए आपको अपनी डाइट में एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर भोजन का सेवन करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान जंक फूड का सेवन करने से होने वाले दुष्प्रभाव]

    उपयोग की शर्तें

    " यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "