बच्चों को चॉकलेट खिलाना कब उचित होता है

when to give chocolate to your baby

छोटे बच्चों को चॉकलेट्स बेहद पसंद होती है। बच्चा जैसे-जैसे स्वाद को पहचानता है वैसे-वैसे चॉकलेट खाने की तलब उनमें और बढ़ती जाती है लेकिन हर माता-पिता के मन में यह सवाल होता है बच्चों को चॉकलेट देना चाहिए या नहीं? चॉकलेट खाना बच्चों के लिए हमेशा हानिकारक नहीं होता है। आइए जानते हैं कि बच्चों को कब और कौनसी चॉकलेट खिलानी चाहिए और बच्चों को चॉकलेट खिलाने के क्या-क्या फायदे होते हैं। [ये भी पढ़ें: बच्चों को सोते वक्त कहानियां सुनाने के क्या लाभ होते हैं]

1. कब खिलाएं बच्चों को चॉकलेट: बच्चों का पाचन तंत्र 24 महीनों में अच्छी तरह से विकसित हो पाता है। इसलिए बच्चे की उम्र 2 साल होने के बाद ही उन्हें चॉकलेट खिला सकते हैं। इससे पहले उन्हें सिर्फ मां का दूध और स्वस्थ खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। साधारण की बजाय डार्क-चॉकलेट का सेवन बच्चों के लिए अधिक लाभकारी होता है। आइए जानते हैं कि बच्चों को डार्क चॉकलेट खिलाने के क्या फायदे होते हैं।

2.मूड अच्छा होता है: डार्क चॉकलेट में एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाते हैं और हैप्पी हार्मोन का स्तर बढ़ा देते हैं। थोड़ी सी डार्क चॉकलेट बच्चों को खुश करने के लिए काफी होती है।[ये भी पढ़ें: शिशु जब हाथ से खाने लगे तो कौन से खाद्य पदार्थ उन्हें देने चाहिए]

3. दिल के लिए लाभकारी: डार्क चॉकलेट में एंटी-ऑक्सीडेंट्स के साथ-साथ फाइबर, जिंक, मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व होते हैं। इसलिए डार्क चॉकलेट खाने से ब्लड वैसल्स चौड़ी होती हैं और रक्त संचरण बढ़ जाता है जो कि दिल के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है।

4. दिमागी शक्ति बढ़ती है: डार्क चॉकलेट में फ्लेवेनॉइड होते हैं जो कि दिमाग की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाते हैं। ये याददाश्त बढ़ाने में मदद करते हैं। बच्चों को डार्क चॉकलेट खिलाने से कोगनेटिव एक्टीविटी बढ़ जाती है।

5.ऊर्जा मिलती है: डार्क चॉकलेट में कॉपर, फाइबर, मैग्नीशियम, जिंक जैसे पोषक तत्व होते हैं यहीं कारण है इसे खाने से पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा मिलती है। इसलिए बच्चों को डार्क चॉकलेट खिलाना लाभकारी होता है। [ये भी पढ़ें: शिशु के बोतल के लिए हाइजीन टिप्स]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "