Baby care tips: बच्चे को खांसी और जुकाम होने पर क्या करें

Read in English
baby care tips for cough and cold

baby care tips: बच्चे के खांसी और जुकाम से ग्रसित होने पर कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

बच्चे बहुत संवेदनशील होते हैं जिसकी वजह से उनका खास ख्याल रखना जरुरी होता है। उनकी थोड़ी सी भी तबियत खराब होने पर उनके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंच सकता है। बच्चों का इम्यून सिस्टम मजबूत ना होने की वजह से वह बहुत जल्दी बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं। खांसी और जुकाम से बच्चे बहुत जल्दी ग्रसित होते हैं। इस दौरान माता-पिता को बच्चों का खास ध्यान रखना बेहद जरुरी होता है। परेशान होने की बजाय कुछ बातों का ध्यान रखकर बच्चे को खांसी और जुकाम के दौरान सहज महसूस करा सकते हैं। बच्चे के खांसी और जुकाम से ग्रसित होने पर कुछ टिप्स फॉलो करना जरुरी होता है। तो आइए आपको इन्हीं टिप्स के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: बच्चे की परवरिश से जुड़ी कुछ बातें जो माता-पिता को पता होनी चाहिए]

Baby care tips: खांसी और जुकाम के दौरान बच्चे का कैसे ख्याल रखें

बच्चे को ब्लैंकेट में टाइट से ना लपेटे
नाक से म्यूकस को साफ करें
डॉक्टर की सलाह के बिना दवाई ना दें
अच्छी तरह खाना खिलाएं
बुखार चेक करें

बच्चे को ब्लैंकेट में टाइट से ना लपेटे: माता-पिता को लगता है कि अगर वह बच्चे को ब्लैंकेट में लपेटकर रखेंगे तो उन्हें अच्छा महसूस होगा। बल्कि यह गलत है इससे बच्चा खुदको बंधा हुआ सा महसूस करता है और हाथ-पैर भी सही तरह से नहीं मूव कर पाता है। इसलिए बच्चे को ऐसे कपड़े पहनाएं जिससे उन्हें सहज महसूस हो।

नाक से म्यूकस को साफ करें:

tips for cough and cold
baby care: बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए उनकी नामृक साफ करना जरुरी होता है।

नाक भरी होने की वजह से बच्चे को सोने में दिक्कत होती है। जिसकी वजह से वह हमेशा परेशान रहते हैं। इसलिए नाक से म्यूकस साप करना जरुरी होता है। आप बच्चे की नाक साफ करने के लिए ईयरबड या नेसल स्प्रे का इस्तेमाल कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: इन प्रभावी तरीकों की मदद से करें नवजात शिशु की नाक साफ]

डॉक्टर की सलाह के बिना दवाई ना दें: बच्चों के संवेदनशील होने की वजह से उनके बीमार होने पर माता-पिता को तनाव हो जाता है। इसलिए तनाव के दौरान बच्चों को कोई भी दवाई देने से पहले ध्यान रखें। डॉक्टर की सलाह के बिना उन्हें कोई दवाई ना दें।

अच्छी तरह खाना खिलाएं: बीमार होने के दौरान बच्चे कुछ भी खाना पसंद नहीं करते हैं। लेकिन कोशिश करके उन्हें थोड़ा बहुत खिलाएं नहीं तो वह और बीमार हो सकते हैं। [ये भी पढ़ें: बच्चों को फल और सब्जियों के स्वाद से कैसे परिचित करवाएं]

बुखार चेक करें: अगर बच्चे को खांसी-जुकाम के साथ बुखार भी हो गया है तो हो सकता है बच्चे की तबीयत ज्यादा खराब हो रही हो। इसलिए थोड़ी-थोड़ी बाद बच्चे का बुखार चेक करते रहें।

[जरुर पढ़ें: आपका शिशु रात में क्यों नहीं सोता है]

बच्चे को खांसी-जुकाम होने पर कुछ बातों का ध्यान रखना जरुरी होता है। इस आर्टिकल को इंग्लिश(English) में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "