नवजात शिशु की देखभाल से जुड़े मिथक

Read in English
What Are The Common Myths About Newborn Baby Care you should stop believing

बच्चे घर में खुशियां लेकर आते हैं, इसलिए नन्हें मेहमान की देखभाल में माता-पिता और परिजन कोई कमी नहीं छोड़ते हैं। ऐसे में बच्चों की देखभाल को लेकर नए माता-पिता को बहुत लोग अलग-अलग राय देते हैं। माता-पिता अपने बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए सारे उपाय करते हैं लेकिन बच्चों के पालन को लेकर अनेक मिथ प्रचलित हैं जिन्हें मानना बंद करना चाहिए। बहुत बार आपको उन मिथक के बारे में पता नहीं होता है। ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं कि नवजात शिशु की देखभाल से संबंधित किन-किन मिथक को मानना आपको बंद करना चाहिए। [ये भी पढ़ें:स्तनपान छुड़वाते समय शिशु को खिलाएं स्वास्थ्यवर्धक चीजें]

1.मिथक: बच्चों के लिए तेल मालिश करना महत्वपूर्ण होता है: भारतीय परिवारों में बहुत सारे माता-पिता ये सोचते हैं कि बच्चे को मालिश करना जरुरी होता है। बच्चे के जन्म के 6 महीने तक उनकी तेल ग्रंथियां विकसित नहीं होती हैं। ऐसे में जन्म के 6 महीने तक उनकी मालिश करने का कोई विशेष फायदा नहीं होता है। कुछ लोग नवजात की तेल मालिश करके धूप में भी सुला देते हैं जो कि बच्चे की त्वचा के लिए हानिकारक हो सकता है। इसलिए ऐसा नहीं करना चाहिए।

2.मिथक: लगातार रोने से बच्चा थक जाता है: माता-पिता को लगता है कि लगातार रोने पर बच्चा थक जाता है लेकिन यह मानना भी मिथक होता है। बच्चे के रोने से उसका दिल और फेफड़े स्वस्थ रहते हैं। बच्चा जब रोता है तो उसका रेस्पाइरेटरी सिस्टम(श्वसन तंत्र) पहले की तुलना में बेहतर बनता है। बच्चे का रोना स्वाभाविक होता है। ऐसे में ज्यादा परेशान नहीं होना चाहिए। [ये भी पढ़ें: माता-पिता को कब बच्चों के लिए घरेलू उपचारों का उपयोग नहीं करना चाहिए]

3.मिथक: धूप से बच्चे की हड्डियां मजबूत होती है: आपके शरीर को सूर्य की रोशनी की जितनी जरुरत होती है उतनी नवजात शिशु के शरीर को नहीं होती है। साथ ही सूर्य की किरणों की तीव्रता इतनी अधिक होती है कि ये बच्चे की त्वचा के लिए हानिकारक हो सकती हैं। ऐसे में बच्चे को सूरज की धूप में ज्यादा देर तक ना ले जाएं।

4.मिथक: बेबी वॉकर बच्चे की चलने में मदद करता है: अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा अच्छी तरह से चल पाए तो बेबी वॉकर का इस्तेमाल ना करें। इससे बच्चे के पैर मुड़ सकते हैं और उन्हें चोट भी लग सकती है। जब बच्चा बेबी वॉकर की सहायता से चलता है तो खुद-ब-खुद उसे रोक नहीं पाता है। ऐसे में बच्चे के पैरों में दर्द भी हो सकता है। ऐसे में खुद उसे चलना सिखाएं ना कि वॉकर की मदद लें। [ये भी पढ़ें: बच्चे के रूम में हीटर रखना क्यों होता है हानिकारक]

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "