पानी में बच्चे की सुरक्षा के लिए माता-पिता रखें कुछ बातों का ध्यान

Read in English
Water Safety Tips For Babies Every Parents Should Know

बच्चों की देखभाल करना बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती है। आपको बच्चों को हर स्टेप पर समझाना जरुरी होता है। अगर वह घुटनों के बल चलने लगे तो आपको ज्यादा ध्यान रखने की जरुरत पड़ती है। जब बच्चे की सुरक्षा का सवाल आता है तो आपको पानी में सुरक्षा के बारे में भी पता होना चाहिए। बच्चे को पानी में या स्वीमिंग पूल में नहलाते समय कुछ टिप्स के बारे में ध्यान रखना जरुरी होता है। आजकल डॉक्टर बच्चे के शरीर के संतुलन के लिए पानी में एक्सरसाइज कराने की सलाह देते हैं। लेकिन इन सभी चीजों के लिए आपके बच्चा कम से कम 6 महीने का होना चाहिए। अगर आप बच्चे को पानी में एक्सरसाइज कराने ले जा रहे हैं तो कुछ बातों का ध्यान रखें। तो आइए आपको इन टिप्स के बारे में बताते हैं। [ये भी पढ़ें: बच्चों को नाखून चबाने से कैसे रोकें]

बच्चे को सही तरीके से पकड़ें:
अगर आप बच्चे को स्वीमिंग पूल में या टब में नहलाना रहे हैं जो पानी से भरा हो तो बच्चा पहली बार थोड़ा सा परेशान हो जाता है क्योंकि वह इससे वाकिफ नहीं होते हैं। इसलिए बच्चे के लिए पकड़ जरुरी होती है। अगर आपको पानी में बच्चे को कैसे पकड़े पता नहीं है तो वह सीधे पानी में कूद सकता है जिसकी वजह से बच्चे के कान में पानी जा सकता है। पहली बार पानी में बच्चा रोता है लेकिन जब उसे इसकी आदत हो जाती है तो बच्चे पानी में बहुत खुश होते हैं। जब भी बच्चे को नहला रहे हैं तो उसे सही तरीके से पकड़कर रखें।

पानी के लेवल का भी ध्यान रखें:
जब आप बच्चे को स्वीमिंग पूल में लेकर जाते हैं तो कुछ चीजों का ध्यान रखना जरुरी होता है। स्वीमिंग पूल के पर्यावरण का भी ध्यान रखना चाहिए। स्वीमिंग पूल में पानी के लेवल का ध्यान रखना भी जरुरी होता है। बच्चे के लिए टायर का इस्तेमाल करना ना भूलें। यह बच्चे को तैरने में मदद करता है और उसे मजा भी आने लगता है। [ये भी पढ़ें: नवजात शिशु को नहलाने की शुरुआत कब करें]

स्मार्ट मूव:
अगर आप अपने बच्चे के साथ स्वीमिंग पूल में जाना पसंद करते हैं तो आप जा सकते हैं। ऐसे कई स्वीमिंग पूल होते हैं जिनमें ट्रेनर और एक्सपर्ट नहीं होते हैं। अगर आपको अच्छी तरह स्वीमिंग आती है तो ही बच्चे को अकेले पूल में लेकर जाएं। इस दौरान इस बात का ध्यान रखना जरुरी है कि बच्चे को पानी में सांस रोकना नहीं आता है। इसलिए आप बच्चे को पीठ के बल उल्टा करके स्वीमिंग करवा सकते हैं। [ये भी पढ़ें: जुड़वा बच्चों की देखभाल कैसे करें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "