शिशु की बॉडी लैंग्वेज से समझें कि वह क्या कह रहा है

Read in English
Tips To Understand Your Baby’s Body Language

नवजात शिशु बोल नहीं सकते हैं, इस वजह से कई बार वो अपनी भावनाओं को नहीं बता पाते हैं और कई बार पहली बार बनें माता-पिता भी उनकी बातों को समझने में असमर्थ हो जाते हैं क्योंकि ये उनका पहला अनुभव होता है। ऐसे में अपने बच्चे की शरीरिक भाषा को समझना बहुत जरूरी होता है ताकि आपके बच्चे को किसी प्रकार की असहजता महसूस ना हो। आपका बच्चा अपनी शारीरिक गतिविधि के जरिए आप से बहुत सी बातें करना चाहता है। बच्चा अपने मूड और भावनाओं को अपनी गतिविधि के जरिए आपको बताना चाहता है। आइए जानते हैं शिशु की बॉडी लैंग्वेज से समझें कि वह क्या कह रहा है। [ये भी पढ़ें: नखरीले बच्चों को कैसे संभाले]

पैर मारना:
अगर आपका बच्चा पैर मार रहा है तो वो खुश है और अपने पल का आनंद उठा रहा है। पैर मारना आपके बच्चे की खुशी को व्यक्त करने का तरीका होता है। ज्यादातर बच्चे अपने पैरों को जब वे बाथटब में रहते हैं या जब आप उनके साथ खेल रहे हैं तो मारते हैं।

कमर को मोड़ना:
जब आपका बच्चा कमर को मोड़ता है तो या तो उसे दर्द हो रहा होता है या उसे किसी चीज से असहजता महसूस हो रही होती है। ऐसा आपका तब भी करता है जब उसके सीने में जलन महसूस होती है। [ये भी पढ़ें: बच्चोंं को मुंहासें होने के कारण और सावधानियां]

किसी चीज पर सिर मारना:
जब आपका बच्चा चिड़चिड़ापन या दर्द से पीड़ित होता है तो वह फर्श पर या अपने पालने पर सिर मारता है। सिर को आगे-पीछे करके सिर मारने से उन्हें दर्द से राहत मिलती है। ऐसे में अपने डॉक्टर से संपर्क करने की जरूरत है।

कान खिंचना:
जब आपका बच्चा अपने कान खिंचता है तो यह खुशी व्यक्त करने का तरीका होता है। इसके अलावा, आपका बच्चा अपने कान तब भी खिंचता है जब उनके दांत आ रहे होते हैं। अगर आपका बच्चा रोते हुए अपने कान खिंचता है तो उसे इयर इंफेक्शन भी हो सकता है।

हाथ झटकना:
आम तौर पर, जब अचानक बच्चे शोर सुनते हैं या ज्यादा रोशनी का अनुभव करते हैं तो वह अपने हाथों को झटकते हैं। जब आप उसे फर्श पर रखते हैं और उन्हें किसी चीज का समर्थन नहीं मिलता है और उन्हें किसी बात का डर महसूस होता है तो भी वो अपने हाथों को झटकते हैं। [ये भी पढ़ें: बच्चों के लिए पालक का सेवन क्यों फायदेमंद होता है]

 

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "