Baby care: अपने बच्चे को हर मौसम में कैसे सहज महसूस कराएं

Read in English
tips to make your baby comfortable

Make your baby comfortable: बच्चे को हर मौसम में सहज महसूस कराना चाहिए।

मौसम बदलने से जिस तरह से त्वचा और शरीर में बदलाव आता है उसी तरह से मौसम का प्रभाव बच्चों पर भी पड़ता है। चाहे फिर बच्चा घर के अंदर हो या बाहर उसका खास ख्याल रखने की जरुरत होती है। जैसे सर्दियों के मौसम में बच्चे को गर्म कपड़े पहनाकर रखते हैं तो उसी तरह गर्मियों में बच्चे को पतले कपड़े पहनाना चाहिए। हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि बच्चा हमेशा सहज महसूस करें। इस दौरान आपको बच्चे के खाने-पीने, कपड़े, सर्दी-गर्मी सबका ध्यान रखना जरुरी होता है। तो आइए आपको बताते हैं कि हर मौसम में बच्चे को कैसे सहज महसूस कराएं। [ये भी पढ़ें: शिशु जन्म के बाद 48 घंटों तक रखें इन बातों का ख्याल]

Baby care: बच्चे को सहज महसूस कराने के लिए टिप्स

आरामदायक कपड़े
बच्चे को हाइड्रेट रखें
मसाज करते समय ध्यान रखें
वेंटिलेशन का भी ध्यान रखें

आरामदायक कपड़े: गर्मियों के मौसम में बच्चे को कॉटन के कपड़े पहनाने चाहिए ताकि गर्मी होने पर उन्हें असहज महसूस ना हो। क्योंकि सिंथेटिक कपड़े पहनने से बच्चे को रैशेज हो सकते हैं और गर्मियों में बाहर लेकर जा रहे हैं तो उसका सिर टोपी से ढककर रखें ताकि लू ना लगे। ठीक उसी तरह सर्दियों में बच्चे को बहुत सारे कपड़े ना पहनाएं। नहीं तो उन्हें असहज महसूस होता है।

बच्चे को हाइड्रेट रखें: शरीर में पानी की कमी होने की वजह से बच्चे को कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं इसलिए बच्चे के शरीर में पानी की मात्रा कम नहीं होने देनी चाहिए। अगर आपका बच्चा 6 महीने से छोटा है तो उसे ब्रेस्टफीड कराना चाहिए। अगर आपका बच्चा 6 महीने से बड़ा है तो आप उसे मिल्क शेक, फ्रेश फ्रूट जूस, नारियल पानी पिला सकते हैं। इससे बच्चा हाइड्रेटिड रहता है।

मसाज करते समय ध्यान रखें: गर्मी हो या सर्दी बच्चे के शरीर को मजबूत बनाने के लिए मसाज करना जरुरी होता है। मगर इस बात का ध्यान भी रखना चाहिए कि आप बच्चे को मसाज करने के लिए कौन से तेल का इस्तेमाल कर रहे हैं। कुछ प्रकार के तेल की वजह से बच्चे को एलर्जी भी हो सकती है। आप बच्चे को मसाज के लिए ऑलिव ऑयल और नारियल के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

वेंटिलेशन का भी ध्यान रखें: बच्चों को व्यस्कों की तुलना में बहुत ज्यादा गर्मी लगती है। इसलिए उन्हें बंद कार या बंद कमरे में रखने से पहले सोचना चाहिए। बच्चों के लिए हवादार जगह पर रहना जरुरी होता है। बच्चे को घुटन महसूस ना होने दें। बच्चे को खुली हवादार जगह पर रखें।

[जरुर पढ़ें: दो महीने के शिशु का ख्याल कैसे रखें]

बच्चों को हर मौसम में सहज महसूस कराना अच्छा होता है। इस आर्टिकल को इंग्लिश(English) में भी पढ़ें।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "