Baby care: बच्चों में कौन से लक्षण दिखने पर नजरअंदाज ना करें

Symptoms you should never ignore: बच्चों में दिखने वाले लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

शिशु बहुत कोमल होते हैं जिसकी वजह से उनका खास ख्याल रखना बेहद जरुरी होता है। जब आपका बच्चा बीमार होता है तो उनका ज्यादा ध्यान रखना जरुरी होता है। क्योंकि उनकी बीमारी को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। बच्चों के साथ सबसे बड़ी परेशानी यह होती है कि उनकी बीमारी के बारे में कई बार पता नहीं चलता है। उनके अपनी बात बता ना पाने की वजह से बच्चों की बीमारी समझ पाना मुश्किल हो जाता है। बस उनकी परेशानी को समझा जा सकता है। अगर बच्चे के बीमार होने पर कुछ लक्षण दिखाई देते हैं तो उनको नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। तो आइए आपको उन लक्षणों के बारे में बताते जिनको कभी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: Fever in babies: नवजात शिशु को बुखार से कैसे राहत दिलाएं]

Baby care: बच्चों में दिखने वाले कौन से लक्षण नजरअंदाज ना करें

बुखार
ज्यादा प्यास लगना
ब्लीडिंग
वजन कम होना
पीले रंग की उल्टी

बुखार: जब आप बड़े हो जाते हैं तो बुखार आने के पीछे का कारण आपको ज्यादा परेशान नहीं करता है। लेकिन अगर आपके शिशु को बुखार है तो उसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। अगर आपका बच्चा 4 महीने से भी छोटा है और उसे ज्यादा बुखार होता है तो उसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

ज्यादा प्यास लगना:

babies feel thirsty
thirsty baby: बच्चों को बार-बार प्यास लगने के पीछे कई कारण होते हैं।

अगर आपका बच्चा पर्याप्त मात्रा में पानी पीता है तो यह उसके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन अगर अचानक से बच्चे को ज्यादा प्यास लगने लगे तो अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करें। यह ज्यादा भूख, थकावट के संकेत हो सकते हैं।

ब्लीडिंग: कट लग जाने पर खून बहना सामान्य होता है लेकिन बच्चे को लग जाने के काफी देर तक खून बहना ना रुके तो तुरंत डॉक्टर के पास लेकर जाएं। जब तक डॉक्टर के पास नहीं जाते हैं तो उसे साफ कपड़े सो ढ़ककर रखें।

वजन कम होना: अचानक से ज्यादा वजन कम होना बच्चे के लिए हानिकारक होता है। अगर आपके बच्चे का अचानक से वजन कम हो गया है थोड़े दिन देखें कि उसका वजन बढ़ रहा है कि नहीं। अगर नहीं बढ़ रहा है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं क्योंकि यह स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की तरफ इशारा करता है।

पीले रंग की उल्टी: बच्चे के एक साल तक होने के दौरान तक उन्हें कई बार उल्टी होती है। कई बार ज्यादा खा लेने कि वजह से तो कई बार किसी और कारण की वजह सें। लेकिन अगर आपके शिशु को हरे या पीले रंग की उल्टी हो रही है तो यह आंत से ब्लॉक होने से संकेत होते हैं। तो बच्चे को डॉक्टर के पास लेकर जाएं।

[जरुर पढ़ें: Stomach pain in babies: शिशु के पेट में दर्द होने के क्या कारण होते हैं]

बच्चे में कुछ संकेत दिखने पर उन्हें नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। यह उनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "