सुपरफूड जो बच्चों की डाइट में शामिल करना है जरुरी

Read in English
superfoods you should include in your baby diet

बच्चे के विकास और ग्रोथ के लिए सही फूड का सेवन करना जरुरी होता है। बच्चों को कुछ अतिरिक्त देकर ही उनके स्वास्थ्य को बेहतर बनाया जा सकता है। उन्हें विकास के लिए बड़े लोगों की तुलना में कुछ अलग फूड्स का सेवन कराना चाहिए  इसलिए जैसे ही डॉक्टर उन्हें खिलाने के लिए कह दें तो आप उनकी डाइट में कुछ खाद्य पदार्थ शामिल कर सकते हैं जो विकास में मदद करते हैं। इसके लिए सबसे बेहतर सुपरफूड होते हैं। यह सुपरफूड बच्चों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। तो आइए आपको उन सुपरफूड्स के बारे में बताते हैं जिन्हें बच्चों की डाइट में शामिल करना फायदेमंद होता है। [ये भी पढ़ें: स्तनपान छुड़वाते समय शिशु को खिलाएं स्वास्थ्यवर्धक चीजें]

केला:
केले में उच्च मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं। साथ ही फाइबर भी प्रदान करता है जो पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाने में मदद करते हैं। इसे बच्चे को मैश करके आसानी से खिलाया जा सकता है।

योगर्ट: योगर्ट में कैल्शियम, विटामिन डी और प्रोबायोटिक होते हैं। यह आप 6 महीने के बच्चे को भी दे सकते हैं। बच्चे को योगर्ट देने के लिए ताजे दूध का ही इस्तेमाल करें। डायरिया की समस्या दूर करने के लिए भी योगर्ट फायदेमंद होती है। [ये भी पढ़ें: माता-पिता को कब बच्चों के लिए घरेलू उपचारों का उपयोग नहीं करना चाहिए]

अंडा:
अंडे में महत्वपूर्ण पोषक तत्वों के साथ विटामिन और प्रोटीन भी होते हैं। अंडे की जर्दी में कोलीन होता है जो बच्चे के दिमाग के विकास में मदद करता है।

शकरकंद: शकरकंद पोटेशियम, विटामिन सी, फाइबर और बीटा-कैरोटिन का अच्छा स्त्रोत है। इसका स्वाद मीठा होने की वजह से यह बच्चों को पसंद होता है। शकरकंद को उबालकर मैश करके बच्चे को दिया जा सकता है।

एवोकाडो: एवोकाडो में बाकि फलों की तुलना में अधिक पोषक तत्व होते हैं। इसमें उच्च मात्रा में प्रोटीन और मोनोसैचुरेटिड फैट होते हैं जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। एवोकाडो का सेवन करने से बच्चे का पेट भर जाता है। यह बच्चे के विकास में भी मदद करता है।

चिया सीड्स:
superfoods you should include in your baby dietचिया सीड देखने में जितने छोटे होते हैं इसमें उतनी ही मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और कैल्शियम होता है। चिया सीड में प्रचुर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड, फाइबर, आयरन, पोटेशियम और प्रोटीन होते हैं। जो बच्चे को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। [ये भी पढ़ें: बच्चे के रूम में हीटर रखना क्यों होता है हानिकारक]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "