बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए हाइजीन टिप्स

बच्चों के स्वस्थ विकास के लिए हाइजीन एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। बच्चों को हानिकारक बैक्टीरिया दूर रखने के लिए उनका खास ख्याल रखना जरुरी होता है। अगर आप थोड़े समय पहले ही मां बनी है तो आपको बच्चे को लेकर कई चीजों का ध्यान रखना जरुरी है नहीं तो बच्चा बीमार पड़ने लगता है। बच्चे के स्वास्थ्य के लिए आपको कई चीजों से परहेज करना चाहिए। यह बच्चे को बीमारियों से दूर रखने में मदद करते हैं। माता-पिता को कुछ चीजों का खास ध्यान रखना चाहिए। तो आइए आपको कुछ हाइजीन टिप्स बताते हैं जो बच्चे को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। [ये भी पढ़ें: नवजात शिशु का वजन कैसे बढ़ता है]

अपने हाथ धोएं:
hygiene tips for babies बच्चे को उठाने से पहले एंटीबैक्टीरियल साबुन से हाथ धोने की जरुरत होती है। अगर आप बिना हाथ साफ किए बच्चे को छू लेते हैं तो उसे बैक्टीरिया की वजह से जुकाम और डायरिया होने की संभावना बढ़ जाती है। बच्चे का खाना बनाने से पहले भी हाथ धोना जरुरी होता है। बच्चे के डायपर बदलने के बाद कभी भी हाथ धोना ना भूलें।

बच्चे को नहलाएं:
hygiene tips for babiesत्वचा के इंफेक्शन से बचाने के लिए बच्चे को नहलाना जरुरी होता है। बच्चे को रोजाना नहलाने से बच्चा साफ रहता है। नहलाते समय बच्चे के चेहरे, हाथ और डायपर वाली जगह को रोज साफ करें। अगर नवजात शिशु है तो आप उसे रोज नहलाने की जगह स्पॉज बॉथ करवा सकते हैं। [ये भी पढ़ें: पानी में बच्चे की सुरक्षा के लिए माता-पिता रखें कुछ बातों का ध्यान]

नाखून काटे: गंदे नाखून कीटाणुओं के संकेत होते हैं जो हाथों के माध्यम से शरीर में प्रवेश करके बच्चे को बीमार कर सकते हैं। इसलिए हमेशा बच्चे के नाखून को काटकर रखें और साफ रखें। अगर बच्चे के हाथ के नाखून लंबे हैं तो वह खुद को नुकसान पहुंचा सकता है। इसके लिए जब भी बच्चा सो रहा हो उसके नाखूनों को काट दें।

कान साफ करें: बच्चे के कानों को सही तरीके से साफ करना जरुरी होता है। कभी भी बच्चे के कान को ईयर बड से साफ ना करें। अगर बच्चे के कान को हाथ लगाने से उसे असहज महसूस होता है तो बच्चे को कान में इंफेक्शन हो सकता है। इसके लिए तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

बच्चे के डायपर को रोजाना बदले: जब बच्चे की हाइजीन को लेकर बात आती है तो एक समय के अंतराल के बाद बच्चे का डायपर बदलना जरुरी होता है। बच्चे का डायपर बदलने के बाद उस जगह को साफ करना जरुरी होता है ताकि किसी तरह के रैशेज ना हो। [ये भी पढ़ें: बच्चों को नाखून चबाने से कैसे रोकें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "