शिशु के दूध की बोलत इस्तेमाल करने की आदत को कैसे छुड़ाएं

Read in English
how to replace your baby bottle with sipping cup

जब आपका शिशु थोड़ा बड़ा हो जाता है तो माताएं हीं चाहती हैं कि वह बोतल से दूध पिएं। उनकी इच्छा होती है कि वह कप से या गिलास से दूध पिएं। लेकिन आपका बच्चा इस समय तक अपनी बोतल का आदि हो जाता है और वह बोतल को छोड़ने के लिए राजी नहीं होता। शिशु को अपनी बोतल से इतना लगाव हो जाता है कि वह उसके बिना दूध या अन्य पेय पदार्थ पीना ही नहीं चाहता है। हालांकि यह बहुत ही सामान्य समस्या है और अधिकतर बच्चों के साथ ऐसा होता है लेकिन मां को इस दौरान यह चिंता रहती है कि बोतल से गिलास की तरफ जाते हुए कहीं बच्चा भूखा ना रह जाए। हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं जिनके जरिए आप बच्चे को बोतल की जगह कप से दूध पिलाना सिखा सकते हैं। [ये भी पढ़ें: बच्चों में डिहाइड्रोशन के दौरान दिखते हैं ये संकेत]

बच्चे को कप से दूध पिलाने का सही समय: हालांकि ऐसी कोई निश्चित अवधि या दिन नहीं है जिस पर आप अपने शिशु को बोतल से दूध ना देकर कप से दूध पीना सिखाएं। कुछ बच्चों को उनकी माताएं 4से 6 महीने की उम्र में ही सिपी कप या गिलास से दूध पिलाना सिखाती है जबकि कुछ बच्चे एक साल की उम्र से पहले बोतल को छोड़ने में कोई रुचि नहीं दिखाते हैं। इसलिए बेहतर है कि आप अपने शिशु को समझें और उसके अनुसार ही सही समय निश्चित करें।

सही कप का चुनाव करें: आप जब अपने बच्चे की बोतल को कप से रिप्लेस कर रहे हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि आप जिस कप का चुनाव कर रही हैं वह आपके शिशु के लिए उचित हो। आपको देखना है कि हैंडल वाला कप, बिना हैंडल वाला कप, सॉफ्ट-स्पाउट वाला कप या फिर हार्ड-स्पाउट वाला कप आदि में से आपके बच्चे के लिए कौन सा बेहतर होगा। आप शिशु के लिए स्ट्रॉ वाला कप भी ले सकती हैं। [ये भी पढ़ें: बच्चे के स्वस्थ विकास के लिए ध्यान में रखें ये बातें]

बच्चे को कप पकड़ना और इस्तेमाल करना सिखाएं: जब आपका बच्चा बैठना और चीजों को पकड़ना सीख जाता है तो यह सही समय है कि आप उसे बोतल की जगह कप से दूध पीना सिखाएं। बच्चे को कप पकड़ना सिखाएं और उसे बताएं कि उससे सिप कैसे करना है। शिशु के लिए इस अनुभव को मजेदार बनाने की कोशिश करें। आप उसमें थोड़ा पानी या कोई और पेय पदार्थ भरकर उसे प्रैक्टिस करा सकती हैं।

उसे बताएं कि देखो दूसरे बच्चे भी कप का उपयोग कर रहे हैं: आपका शिशु दूसरे बड़े बच्चों को देखकर जल्दी सीख पाएगा। इसलिए उससे कहें कि दूसरे बच्चे भी दूध पीने के लिए कप का इस्तेमाल कर रहे हैं। अधिकतर बच्चों को अपने से बड़े बच्चों को देखकर कॉपी करने की आदत होती है इसलिए यह एक बेहतर तरीका हो सकता है।

अलग-अलग पेय पदार्थ पिलाएं: अगर आपका शिशु पानी या दूध नहीं पी रहा है तो आप उसे कप में अन्य पेय पदार्थ दे सकते हैं जैसे डाइलूट जूस। आप सेब या संतरे का जूस पानी के साथ डाइलूट करके शिशु को दे सकती हैं।

क्या आप सोच रही है कि बोतल के बिना आपका बच्चा भूखा रहेगा: अगर बोतल छुड़ाने के दौरान आप सोच रही हैं कि आपका शिशु दूध नहीं पी पा रहा है और भूखा रहेगा तो चिंता ना करें। जैसे बच्चा 6 से 12 महीने की उम्र में आता है तो इस दौरान वह अधिक सॉलिड फूड खाने लगता है जिससे दूध का सेवन खुद से कम हो जाता है। तो यह सामान्य है। लेकिन फिर भी आपको लग रहा है बोतल के बिना आपका बच्चा भूखा रहेगा तो उसे दिन में तीन बार सॉलिड फूड का सेवन कराएं। [ये भी पढ़ें: क्यों रातभर नहीं सो पा रहा आपका शिशु जानें कारण]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "