बच्चे की देखभाल और वर्क लाइफ के बीच संतुलन कैसे बनाएं

Read in English
how to maintain balance between work life and baby care

मां बनने के बाद महिलाओ पर अपने साथ बच्चे की देखभाल जैसी कुछ जिम्मेदारियां भी आ जाती हैं। इस जिम्मेदारियों को निभाना तब और मुश्किल हो जाता है, जब आप एक वर्किंग मदर हो। जिसकी वजह से कई महिलाएं अपने बच्चे की देखभाल करने के लिए घर से ही काम करने लगती हैं। लेकिन घर पर काम करने के साथ बच्चे की देखभाल करना बहुत मुश्किल काम होता है, जिसके बीच एक संतुलन होना बहुत जरुरी होता है। तो आइए आपको बताते हैं कैेसे जानते हैं कि वर्क लाइफ और बच्चे की देखभाल करने के बीच संतुलन कैसे बनाया जा सकता है। [ये भी पढ़ें: बच्चों को स्मार्टफोन का इस्तेमाल क्यों नहीं करने देना चाहिए]

एक शेड्यूल बनाएं: छोटे बच्चे रात को बार-बार नींद से उठ जाते हैं या रात में काफी देर से सोते हैं। जिस वजह से वह सुबह काफी समय तक सोते रहते हैं। इसलिए आपको उनसे पहले उठना चाहिए, जिससे आप अपने काम के लिए उस दिन का एक शेड्यूल बना सकें, दूसरा शेड्यूल बेबी केयर एक्टिविटी का बनाएं। साथ ही अपने बच्चे को थोड़ी-थोड़ी अंतराल में सोने की आदत डालें, जिससे आप जरुरी काम बिना किसी रुकावट के साथ कर सकें।

वर्क एरिया और बच्चे को दूर रखें: आपके काम करने की जगह और बच्चे के बीच में दूरी होनी चाहिए, जिसके लिए एक बेबीसिटर मददगार हो सकती है। अगर आप अपने काम में व्यस्त होंगी, तो बेबीसिटर आपके बच्चे की देखभाल करेगी। साथ ही आप बच्चे की चिंता किये बिना अपने काम में ज्यादा ध्यान दे पाएंगी। [ये भी पढ़ें: बच्चे के सिक्का निगल जाने पर क्या करें]

बेबीसिटर की जरुरत: किसी बेबीसिटर को काम पर रखने से आपका काम बहुत आसान हो जाता है। बेबीसिटर आपके बच्चे की छोटी-छोटी जरुरत और सुरक्षा का ध्यान रखेगी, जिस वजह से आपको बार-बार अपने काम को रोकने की जरुरत नहीं पड़ेगी और प्रभावशाली तरीके से काम खत्म हो जाएगा। अगर आपका बच्चा रोने लगता है, तो बेबीसिटर उसे बाहर गार्डन में लेकर जा सकती है और आप अपना काम सुविधाजनक तरीके से कर पाएंगे।

जॉब बदलना अच्छा विकल्प हो सकता है: अगर आपकी वर्तमान जॉब घर से काम करने की इजाजत नहीं देती है, तो आपको काम और बच्चे की देखभाल के बीच संतुलन बनाने में काफी परेशानी होगी। इस परेशानी को दूर करने के लिए आप जॉब को बदलने के विकल्प के बारे में सोच सकती हैं, क्योंकि बच्चे की देखभाल करना एक प्राथमिक काम है। जिन जॉब में कॉल और निर्धारित समय में काम करने की सीमाएं नहीं होती, वैसी जॉब नयी मां के लिए आरामदायक हो सकती है। [ये भी पढ़ें: बच्चे के बोतल पकड़ते समय बरतें यह सावधानियां]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "