शिशु में भोजन की स्वस्थ आदतें कैसे विकसित करें

How to develop healthy eating habits in babies

Photo credit:tinystep.in

बच्चा जैसे-जैसे बड़ा होता है, वह नई-नई चीजें सीखता रहता है। उम्र के साथ-साथ छोटे बच्चों में चलने- फिरने, दौड़ने, खेलने-कूदने और सीखने की आदतें विकसित होती हैं। बहुत सी चीजें बच्चा अपने आप सीखता है लेकिन उनमें खाना खाने और स्वस्थ चीजें खाने की आदतें विकसित करने के लिए माता-पिता को काफी मेहनत करनी पड़ती है। छोटे बच्चों में खाने-पीने की आदतों को विकसित करवाने के लिए आपको थोड़ा अलग रास्ता अपनाना पड़ता है क्योंकि बच्चों के साथ जबरदस्ती करके आप उनको कुछ नहीं सीखा सकते। इसके विपरीत आप अपनी परेशानियां बढ़ा लेते हैं। इसलिए हम आपको बताने जा रहें है कुछ नए तरीके, जिनसे आप अपने बच्चों में खाना खाने की इच्छा और स्वस्थ आदतों को विकसित कर सकते हैं। इन तरीकों को अपनाने पर आपका बच्चा खाना खाना पसंद करेगा और खाने से डर कर भागेगा नहीं। [ये भी पढ़ें: नवजात शिशु को किस प्रकार की एलर्जी हो सकती है]

1.हर चीज खाना सिखाएं: शुरुआत के दो सालें में बच्चों को हर चीज खाना सिखाएं। बहुत से बच्चे नई चीजों को खाने में शुरुआत में आनाकानी करते हैं लेकिन आपको उनकी यहीं आदत छुड़ानी होती है। इसलिए बच्चों को हर चीज खाना खिलाएं। ऐसा करने से धीरे-धीरे खाने की स्वस्थ आदत विकसित होगी।

2.उन्हें अपने तरीके से खाने दें: बच्चे चीजों को सबसे पहले अपने हाथ और मुंह में लेते हैं। यह उनका प्राकृतिक स्वभाव होता है। ऐसे में अगर आपका बच्चा किसी भी चीज को खाते हुए फैला रहा है और अपना मुंह और कपड़े गंदा कर लेता है तो परेशान ना हों। उसे अपने तरीके से खाने दें। बच्चों में खाने की सभ्यता विकसित करना सही होता है लेकिन पहले उसे खाने के स्वाद से परिचित होने दें। स्वाद से परिचित होने पर वह खाना खाना भी पसंद करने लग जाएगा। [ये भी पढ़ें: सात महीने के बच्चे के लिए आवश्यक खाद्य पदार्थ]

3. खाने के दौरान फल जरुर परोसें: हर बार ऐसा कर पाना संभव नहीं होता लेकिन कोशिश करें कि जितनी भी बार अपने बच्चे को कुछ खिलाएं, उसमें फल और सब्जियां जरुर शामिल करें। ताकि आपको पता चल सके कि किस फल और सब्जी का स्वाद उसे पसंद आ रहा है। ये फल और सब्जियां आप हर 3-4 दिन में दोहरा सकते हैं।

4.एक ही तरह का खाना ना खिलाएं: अगर आप चाहते हैं कि आपका बच्चा हमेशा एक ही तरह कि चीजें ना खाए तो उसे शुरु से ही अलग-अलग तरीके की चीजें खिलाना शुरु करें। आप उसे अलग-अलग तरीके, और फ्लेवर की चीजें खिलाना शुरु करें। जैसे अगर आपका बच्चा चावल खाता है तो उसे सफेद चावल, ब्राउन राइस, स्टीम राइस, रेड राइस आदि अलग-अलग प्रकार के चावल खिलाएं। हो सकता है कि आपका बच्चा सिर्फ एक ही चीज को खाना पसंद करें लेकिन फिर इससे वह हर तरीके की चीजों से वाकिफ होगा।

5.घर पर बनी चीजें खिलाने पर जोर दें: बाजार में आजकल बच्चों के खाने के लिए तरह-तरह के पॉपकॉर्न, स्नैक्स औप पेय पदार्थ आदि मौजूद होते हैं लेकिन कोशिश करें कि बच्चों को घर पर बनी चीजें ही खिलाएं। पॉपकॉर्न से लेकर पनीर जैसी कई चीजों का आप बच्चों को घर पर ही बना कर खिला सकते हैं। इसलिए बच्चों को बाहर की बजाय घर के स्नैक्स खिलाने की आदत डालें। [ये भी पढ़ें: बच्चों को खिलौने से खेलना बंद करवाकर कैसे क्रिएटिव बनाएं]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "