नवजात शिशु का वजन कैसे बढ़ता है

how newborn baby gain weight

रोजाना या थोड़े समय बाद बच्चे का वजन नापने से आपको पता चलता है कि आपके बच्चे का सही तरीके से विकास हो रहा है और पोषक तत्व सही तरीके से मिल रहे हैं कि नहीं। इससे पता चलता है कि बच्चा सही भोजन का सेवन कर रहा है जिसे उसकी जरुरत होती है। कई माता-पिता बच्चे के वजन और पोषक तत्वों को लेकर चिंतित रहते हैं। बच्चे के वजन ना बढ़ने से कई समस्याएं होने का खतरा रहता है। इसलिए बच्चे के वजन को मापते रहना चाहिए और स्वास्थ्य का ध्यान देना चाहिए। तो आइए आपको बताते हैं नवजात शिशु का वजन कैसे बढ़ता है। [ये भी पढ़ें: पानी में बच्चे की सुरक्षा के लिए माता-पिता रखें कुछ बातों का ध्यान]

बच्चे का वजन कैसे प्रभावित होता है: बच्चे का वजन इस बात पर निर्भर करते हैं कि बच्चे का जन्म की नियत तारीख को कितनी करीब ले जाती है। जिन बच्चों का जन्म डिलिवरी तारीख के नजदीक होते हैं उनका वजन बाकि की तुलना में ज्यादा होता है। इसलिए प्रिमिच्यौर बच्चों का वजन कम होता है। बच्चे का वजन उनकी मां के स्वास्थ्य पर भी निर्भर करता है। अगर गर्भवती महिला स्वस्थ है तो बच्चे स्वस्थ होता है और उसका वजन भी ठीक होता है।

शिशु के विकास के लिए सामान्य दिशानिर्देश:
आपको इस बात का ध्यान हमेशा रखना चाहिए कि हर बच्चा बाकि से अलग होता है। अगर आपके बच्चे का वजन 4 महीने तक का होने में दोगुना हो जाता है तो यह सामान्य होता है। 13 महीने के लड़के का वजन तीन गुना हो जाता है तो वहीं लड़कियों में 15 महीनों में तीन गुना होता है। बच्चों का वजन बढ़ाने के कई तरीके होते हैं। सबसे मुश्किल चीज बच्चे का वजन मापना होता है। [ये भी पढ़ें: नवजात शिशु को नहलाने की शुरुआत कब करें]

बच्चे के वजन में कब बदलाव आता है: बच्चे के वजन में अचानक से बदलाव आने के पीछे कई कारण होते हैं। अगर बच्चे का वजन अचानक से कम हो गया है तो आपको कुछ चीजों का ध्यान रखना जरुरी होता है:

  • बच्चे की नींद और सामान्य की तुलना में कम बारी फीड कराना।
  • मां और बच्चे दोनों का बीमार हो जाना।
  • मां की डाइट का स्वस्थ ना होने की वजह से ब्रेस्टफीडिंग कम हो जाना।
  • अगर आप दोबारा से प्रेग्नेंट है या गर्भनिरोध गोलियों का सेवन कर रही हो ।

यह समस्याएं बच्चे के वजन कम होने का कारण होता है। बच्चे की सही तरीके से देखभाल करके उसके वजन को संतुलित किया जा सकता है। अगर बच्चा ब्रेस्टफीडिंग करता है तो उसके लिए आपको शारीरिक रुप से स्वस्थ होना जरुरी होता है। [ये भी पढ़ें: बच्चों को नाखून चबाने से कैसे रोकें]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "