शिशु के दांत को कैसे और कब ब्रश करें

Read in English
how and when you should start brushing your baby's teeth

अक्सर माता-पिता सोचते हैं कि अपने शिशु को कब और कैसे ब्रश करना शुरु कराएं। लेकिन उन्हें डर रहता है कि शिशु के मुंह में कुछ हो ना जाए क्योंकि बच्चों के मसूड़ें संवेदनशील होते हैं। इसकी वजह से शिशु के दांत ब्रश करना काफी मुश्किल काम होता है। इन सबमें सबसे महत्वपूर्ण यह होता है कि आपको बच्चे के दांत कब ब्रश करवाना शुरु करना चाहिए। जब बच्चे के दांत आने लग जाएं और वह आधे आ जाएं उसके बाद से आप शिशु के दांतों को ब्रश करवा सकते हैं। दांतों की देखभाल शुरु से ही करना शुरु कर देनी चाहिए। तो आइए आपको बताते हैं कि शिशु के बातों को कब और कैसे ब्रश करना चाहिए। [ये भी पढ़ें: खाद्य पदार्थ जो आपके शिशु की दिमागी शक्ति को बढ़ाता है]

दांत ब्रश करवाने का सही समय: वैसे तो 7-8 महीने के शिशु को दांत आने लगते हैं तो जब वह आने लगे तो आपको धीरे-धीरे उन्हें साफ करना शुरु कर देना चाहिए। लेकिन सबसे सही समय तब होता है जब बच्चे का आधा दांत आ जाए उसके बाद ही दांत को ब्रश करें। ओरल हेल्थ का शुरु से ध्यान रखना जरुरी होता है। बेशक आप बच्चे के दांतों को ब्रश ना करते हों लेकिन पूरे मुंह के स्वास्थ्य का ध्यान रखना जरुरी होता है। मुंह से बैक्टीरिया को दूर करने के लिए आप साफ कपड़े से बच्चे के मसूड़ों की मसाज कर सकते हैं।

शिशु के दांतों को कैसे साफ करें: दांतों को साफ करने के लिए एक शिड्यूल बनाना जरुरी होता है। बच्चे के मुंह और दांतों को दिन में 2 बार साफ करना ना भूलें। एक बार सुबह के समय ब्रश करें उसके बाद रात को सोने से पहले दांतों को साफ करें। [ये भी पढ़ें: शिशु के बालों की देखभाल कैसे करें]

1- 7-8 महीने का बच्चा सही तरीके से बैठ भी नहीं पाता है। तो ब्रश कराने के लिए उसे सबसे पहले पीठ से पकड़कर बैठाएं। उसके बाद ब्रश को पकड़ें। अगर आपका शिशु एक साल से बड़ा है तो उसे बैठाएं और उसे ब्रश पकड़ाएं।

2- अब ब्रश को दांतों से 45 डिग्री के कोण पर पकड़ें और दांतों को किनारों से साफ करें।

3- जिस तरह से आप अपने दांतों को साफ करते हैं ठीक उसी तरह से बच्चे को दांत साफ करना सिखांए और सर्कुलर मोशन में दांतों को ब्रश करें।

4-अगर आपका बच्चा एक साल का है तो बहुत कम मात्रा में टूथपेस्ट लें। इसके बाद ज्यादा बार कुल्ला करने की जरुरत नहीं होती है। आप एक बार ही सिर्फ कुल्ला करा सकते हैं। ऐसा करने से टूथपेस्ट में मौजूद फ्लूराइड मसूड़ों को मजबूत करता है और दांतों के विकास में मदद करता है। [ ये भी पढ़ें: बच्चों को चॉकलेट खिलाना कब उचित होता है]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "