खाद्य पदार्थ जो शिशु को दांत आने पर खिलाने चाहिए

healthy-foods-for-teething-babies

बच्चों के दांत जब आते हैं तो उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस दौरान उनकी भूख कम हो जाती है। मसूड़ों में खुजली के कारण वे बैचेन रहते हैं। वे इस खुजली को दूर करने के लिए हर वो चीज चबाने को तैयार होते हैं जिनसे उन्हें आराम मिलता है। कुछ चीजें चबाने से बच्चों को आराम मिलता है और दांतों पर आने वाली खुजली भी कम हो जाती है। इस दौरान कुछ माता-पिता शिशु के लिए कुछ खिलौने भी लाते हैं जिन्हें शिशु चबा सकें। हालांकि आप खिलौनों की जगह उन्हें कुछ खाद्य पदार्थ देना बेहतर होता है जिसे वो चबा भी सकते हैं और ये उनके लिए फायदेमंद भी होते हैं। आइए जानते हैं कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में जो दांत आने के समय बच्चों को खिलाने चाहिए जिससे उन्हें राहत मिलती है। [ये भी पढ़ें: बच्चों को भूख कम लगने के क्या कारण हो सकते हैं]

1. ठंडा खीरा- बच्चों को जब दांत आते हैं तो उनके मसूड़ों में सूजन, दर्द और खुजली आने जैसी समस्या हो जाती है। ऐसे में खीरे को छोटा-छोटा काटकर उसे ठंडा कर लें जिससे बच्चे के मसूड़ों की खुजली कम होती है। साथ ही खीरे में एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं जो कि मसूड़ों की सूजन को कम करते हैं।

2. ठंडा गाजर- गाजर के टुकड़ें को ठंडा करके बच्चे को दे सकते हैं जो कि मसूड़ों की खुजली और जलन को शांत करने में मदद करता है। गाजर विटामिन और एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है जो कि शिशु के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी भी होती है इसलिए ठंडी गाजर का सेवन कर सकते हैं। [ये भी पढ़ें: बच्चे की परवरिश से जुड़ी कुछ बातें जो माता-पिता को पता होनी चाहिए]

3. योगर्ट- योगर्ट शिशु के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। ठंडा योगर्ट मसूड़ों की खुजली से राहत देता है साथ ही इसमें मौजूद पोषक तत्व बच्चे को सेहतमंद भी रखते हैं। इसलिए योगर्ट खाना लाभकारी होता है।

4. एवोकाडो- एवोकाडो के स्लाइस काटकर उन्हें ठंडा करके बच्चे को खिला सकते हैं। एवोकाडो के टुकड़ों को चबाने से उनके मसूड़ों का दर्द कम होता है। एवोकाडो खाने से बच्चों के शरीर में विटामिन ए और कैल्शियम पर्याप्त मात्रा में जाते हैं जिससे वे स्वस्थ रहते हैं।

5.चीज़- बच्चों के लिए चीज़ का सेवन करना भी लाभकारी होता है। चीज के टुकड़े को चबाने से मसूड़ों की जलन और दर्द कम होते हैं। चीज़ में हेल्दी फैट्स होते हैं जो कि शरीर के लिए लाभकारी भी होते हैं इसलिए शिशु को दांत आते समय पनीर दे सकते हैं। [ये भी पढ़ें: बच्चों के पोषण और दांतों के स्वास्थ्य से जुड़ी बातें जो आपको जाननी चाहिए]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "