बच्चे के स्वस्थ तन-मन के लिए जरुरी हैं ये आहार

food that helps in healthy growth of the baby

बच्चे के जन्म के तुरंत बाद ही डॉक्टर बच्चे को मां का पहला पीला गाढ़ा दूध पिलाने की सलाह देता है। जन्म के छ:महीने तक मां का दूध ही बच्चे के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। इस समय तक बच्चे को बाहर का कुछ भी नहीं दिया जाता है, लेकिन छ: महीने के बाद डॉक्टर द्वारा बच्चे को दाल का पानी, बाहरी दूध, जूस जैसे तरल खाद्य पदार्थ देने की सलाह दी जाती है। छ: से नौ महीने के तक बच्चे को इस तरह का आहार दिया जाता है। नौवें महीने में आने के बाद उसके खाने की चीजों में बड़ा बदलाव किया जाता है, क्योंकि अब तक बच्चे के दांत आने शुरू हो जाते है। साथ ही इस समय में बच्चे का शारीरिक विकास बहुत तेजी से होने लगता है। इस समय बच्चे को क्या देना चाहिए और क्या नहीं देना चाहिए इसके बारें में पता कर पाना बेहद मुश्किल होता है। तो आइए जानते हैं कि वो कौन से पोषक आहार है जो बच्चे को इस आयु में देना जरुरी होगा। [ये भी पढ़ें: रुला देने वाले पेट दर्द को रखें अपने बच्चे से दूर]

बच्चे के लिए जरुरी पोषक आहार:
ओट्स:
food that helps in healthy growth of the babyअगर अब तक आपने अपने बच्चे के खाने में ओट्स को नहीं मिलाया है तो यह सबसे अच्छा समय है कि आप बच्चे के खाने में ओट्स को भी जोड़ें। ओट्स में सबसे ज्यादा फाइबर और मिनरल्स होते हैं साथ ही साथ इसमें फैट की मात्रा बहुत कम होती है। इनके अलावा इसमें आयरन की भरपूर मात्रा होती है, अगर बच्चे के खाने में आप ओट्स को शामिल करते हैं, तो इससे उसे कब्ज की परेशानी नहीं रहती है।

ताज़े फल:
food that helps in healthy growth of the babyअपने बच्चे के खाने में ताजे फल को शामिल करना बहुत जरुरी है। इससे बच्चे को सभी प्रकार के पोषक तत्व मिल जाते हैं, इसलिए अगर नहीं शामिल किया है तो जरुर करें। इस बात का ध्यान रहे कि फलों ठीक से काट लें और उसके छोटे-छोटे टुकड़े बच्चे को दें, क्योंकि उनके दांत पूरी तरह से नहीं आये होते हैं, जिसकी वजह उन्हें परेशानी हो सकती है। सेब, केला, आम, आडू, पपीता ये सभी बहुत फायदेमंद फल हैं ये आपके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत जरुरी है। [ये भी पढ़ें: बच्चे के अधिक रोने के पीछे हो सकते हैं ये कारण]

अंडे:
food that helps in healthy growth of the baby
सबसे ज्यादा फायदा देने वाला अंडा, आपके बच्चे के सेहत का दोस्त है। इससे बहुत से फायदे होते हैं बच्चे को दिन में कम से कम एक अंडा जरुर दें। इसको आप किसी तरह से पका बच्चे को खिला सकते हैं। इसमें सबसे ज्यादा मात्रा में प्रोटीन होती है जो बच्चे के विकास के लिए बहुत जरुरी है।

सब्जियां: ये सही समय है कि आप अपने बच्चे को हरी सब्जियां और उसके सूप को पिला सकती हैं। सब्जियों में बहुत से पोषक तत्व होते हैं जैसे कार्बोहाइड्रेट और विटामिन ए जो शरीर के लिए बहुत जरुरी है। इनमें आप बहुत सी सब्जियों का जूस बच्चों को खिला सकती हैं जैसे- गाजर, मटर, शकरकंद, ब्रोकली ये सभी बच्चे के लिए बहुत अच्छा माना जाता है।

रोटी और चावल: यह दोनों खाद्य पदार्थ बहुत ही आसानी से किसी के भी घर में मिल जाते हैं इनमें प्राकृतिक शर्करा होता है। जो बच्चे के लिए बहुत फायदेमंद होता है। रोटी को आप दाल के साथ आसानी से खिला सकते हैं इसके लिए सबसे पहले रोटी को दाल में डाल कर अच्छे से मिला दें और उसके बाद अपने बच्चे को इसे खिलायें जो अधिक लाभदायक होगा।

पानी और जूस:
food that helps in healthy growth of the baby
बच्चे को समय-समय पर पानी दे और सही मात्रा में जूस भी दें। इससे बच्चे के शरीर में पानी की कमी नहीं होगी। बच्चे की आयु के अनुसार कौन सा जूस ठीक है इस बात का ध्यान रखे यह बहुत जरुरी भी है।

नौ महीने के बच्चे को क्या न दें:

  • अपने बच्चे को इस उम्र में मर्लिन, स्वोर्डफ़िश जैसे खाद्य पदार्थ न दें। इससे बच्चे का सेन्ट्रल नर्वस सिस्टम पर बहुत गहरा असर पड़ता है इसके साथ ही बच्चे को कच्चे शैल फिश भी न दें।
  • बच्चे को अभी इस समय में शहद खाने को न दें, क्योंकि बच्चों को इससे एक खास तरह का इन्फेक्शन हो जाता है जिसे इन्फेंट बॉटूलिस्म हो जाता है जो बच्चे के दांतों के विकास में बाधक होगा।
  • इस बात का ध्यान रहें कि आप बच्चे को जो अंडा खाने को दे रहें हैं वह पूरी तरह से पक्का हुआ हो और साथ ही उसका सफ़ेद और पीला भाग पूरी तरह से कड़ा हो गया हो।
  • बच्चे को पांच साल कि उम्र से पहले ड्राई फ्रूट खाने को न दें।
  • बच्चे के खाने मे ज्यादा नमक न दें यह किडनी के हानिकारक हो सकता है।
  • बच्चे के खाने में ज्यादा चीनी न मिलाये उसे प्राकृतिक शर्करा वस्तुएं दें। मीठा कस्टर्ड, बिस्कुट या मिठाई बच्चे के दांतों के लिए खतरनाक हैं।

[ये  भी पढ़ें : बच्चों के कानों में होने वाले इन्फेक्शन का कैसे करें उपचार]

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "