Birthmarks In Babies: बच्चे के शरीर पर बर्थमार्क्स क्यों होते हैं

causes of birthmarks in babies

Birthmarks in babies: बच्चे के बर्थनमार्क्स होने के पीछे कई कारण होते हैं।

हर बच्चा अपने माता-पिता के लिए खास होता है। बच्चे के हाव-भाव उसके मात-पिता से काफी मिलते हैं। इसके अलावा भी बच्चे की त्वचा पर कई चीजें होती हैं इन्हें बर्थमार्क्स कहते हैं। यह बर्थमार्क्स त्वचा पर असमान रंगत की मदद से पहचाने जा सकते हैं। यह बच्चे के जन्म के कुछ समय बाद ही दिखने लगते हैं। यह शरीर के किसी भी अंग पर हो सकते हैं। साथ ही किसी भी आकार के हो सकते हैं। ज्यादातर बच्चों को बर्थमार्क्स आनुवांशिकता की वजह से भी होते हैं। बर्थमार्क्स कई तरह के होते हैं यह अलग रंग और अलग आकार के होते हैं। जिसे आपके शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। कुछ बर्थमार्क्स समय के साथ चले होते हैं तो बच्चे की ग्रोथ के साथ बढ़ जाते हैं। इन्हें ट्रीटमेंट की मदद से हटाया जा सकता है। तो आइए आपको उन कारणों और प्रकारों के बारे में बताते हैं जिसकी वजह से यह निशान होते हैं। [ये भी पढ़ें: Preparing child for school: बच्चे को प्ले स्कूल जाने के लिए कैसे तैयार करें]

Birthmarks In Babies:बर्थमार्क्स होने के पीछे के कारण

मैकुलर स्टेन
हेमानजियोमास
पोस्ट वाइन स्टेन
मोनगोलिएन स्पॉट

मैकुलर स्टेन: इस तरह के बर्थमार्क्स को बच्च के शरीर पर आसानी से पहचाना जा सकता है। यह बच्चे के माथे, नाक,गर्दन की पिछले हिस्से पर हो सकते हैं। यह बर्थमार्क्स कोशिकाओं के फैलाव की वजह से होते हैं। कहा जाता है कि यह निशान 1-2 में हट जाते हैं मगर कुछ बर्थमार्क्स जीवनभर रहते हैं।

हेमानजियोमास: जिस तरह से तिल शरीर के किसी भी अंग पर दिख सकते हैं। हेमानजियोमास भी उसी की तरह होते हैं। यह त्वचा की ऊपरी सतह पर जितने होते हैं उतने ही त्वचा के अंदर की तरफ होते हैं। यह ज्यादातर लाल रंग के होते हैं। बच्चे की ग्रोथ के साथ यह निशान भी बढ़ते जाते हैं।

पोस्ट वाइन स्टेन: पोस्ट वाइन स्टेन निशान त्वचा पर रेड वाइन गिर जाने जैसे दिखता है। यह निशान त्वचा की अंदरुनी सतह पर रक्त कोशिकाओं की असामान्य ब्लीडिंग की वजह से होते हैं। बच्चे की ग्रोथ के साथ यह बर्थमार्क्स बढ़ते जाते हैं। यह चेहरे, गर्दन, हाथ या पैर कहीं पर भी हो सकते हैं।

मोनगोलिएन स्पॉट: यह बर्थमार्क्स को आसानी से पहचाना जा सकता है। यह निशान हल्के नीले रंग के होते हैं। इन पैचेज ज्यादातर कमर या कूल्हों पर होते हैं। यह समय के साथ हट भी जाते हैं।

[जरुर पढ़ें: Symptoms of stomach pain: बच्चे के पेट में दर्द हो रहा है तो कैसे पता करें]

बच्चों के शरीर पर बर्थमार्क्स होने के पीछे कई कारण होते हैं। जिनके बारे में पता होना जरुरी होता है।

उपयोग की शर्तें

" यहाँ दी गयी जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । यहाँ सभी सामग्री केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि यहाँ दिए गए किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है। अगर यहाँ दिए गए किसी उपाय के इस्तेमाल से आपको कोई स्वास्थ्य हानि या किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो lifealth.com की कोई भी नैतिक जिम्मेदारी नहीं बनती है। "